Home > State > Himachal Pradesh > जो भाजपा नेताओं की ओर उंगली उठाएगा, उसकी बाजू काट दी जाएगी – भाजपा अध्यक्ष

जो भाजपा नेताओं की ओर उंगली उठाएगा, उसकी बाजू काट दी जाएगी – भाजपा अध्यक्ष

शिमला : राहुल गांधी के खिलाफ आपत्तिजनक बयानबाजी करने पर दो दिन का बैन झेल चुके हिमाचल भाजपा अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने एक बार फिर आग उगली है। इस बार उन्होंने अपने विरोधियों को बाजू काट देने की धमकी दे डाली।

दरअसल, सत्तपाल सिंह बुधवार को मंडी में पार्टी प्रत्याशी राम स्वरूप शर्मा के नामांकन भरने के अवसर पर सीएम जयराम ठाकुर पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल व शांता कुमार एवं प्रभारी तीर्थ सिंह रावत के साथ आये थे।

उसके बाद तमाम नेताओं की मौजूदगी में भाजपा की रैली को संबोधित करते हुए पार्टी अध्यक्ष की जुबान आग उगलने लगी।

जो भाजपा नेताओं की ओर उंगली उठाएगा, उसकी बाजू काट दी जाएगी

मंच से धमकी भरे लहजे में ऐलान किया कि जो भी भाजपा नेताओं की ओर उंगली उठाएगा, उसकी बाजू काट दी जाएगी। सत्ती यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि वह जब भी पंजाबी में अपना भाषण देते हैं, तो उनके विरोधीयों को पीड़ा होने लगती है।

उन्होंने कहा कि आचार संहिता लगी होने की वजह से वह संयम बरत रहे हैं। अगर यह न होती तो वह आज इसी मंच से अपना हिसाब-किताब पूरा करते। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं के खिलाफ जो भी अभद्र भाषा का इस्तेमाल करेगा, उसे इसी तरीके से जवाब दिया जाएगा।

अनिल शर्मा को बताया गाय

सत्ती ने पूर्व मंत्री अनिल शर्मा और उनके पिता पंडित सुखराम को लेकर भी जमकर जुबानी हमले किए। उन्होंने अनिल शर्मा को शरीफ बताते हुए उनकी तुलना गाय से कर डाली।

सत्ती ने कहा कि अनिल शर्मा उस गाय की तरह हैं जिसे चाहे जहां मर्जी पकड़ लो और जहां मर्जी दूह लो। सत्ती ने अनिल शर्मा के उस बयान पर भी तंज कसा जिसमें अनिल शर्मा ने कहा कि था कि जयराम ठाकुर सीएम तो बन गए हैं लेकिन नेता नहीं बन पाए हैं।

सत्ती ने कहा कि क्या नेता बनने के लिए बिस्तर से 7 करोड़ की राशि निकलना जरूरी है और क्या 80 वर्ष की उम्र में उल्टी-सीधी कैसेट निकलना जरूरी है। उन्होंने कहा कि नेता बनने के लिए ईमानदारी और शराफत चाहिए जो जयराम ठाकुर में मौजूद है।

सोनिया गांधी को दुर्गा और मनमोहन सिंह को शेर बताया

सत्ती ने सोनिया गांधी को दुर्गा और मनमोहन सिंह को शेर बताया। उन्होंने कहा कि जब दुर्गा शेर पर सवार हो जाती है तो शेर कुछ नहीं कर पाता और ऐसा ही देश ने 10 वर्षों तक देखा। सत्ती ने इस मौके पर मीडिया पर भी तंज कसा।

उन्होंने कहा कि वह कार्यकर्ताओं के बीच भावनाओं में आकर कुछ बोल देते हैं तो मीडिया उसे बढ़ा-चढ़ाकर दिखा देता है। अपना संबोधन समाप्त करते हुए सत्ती ने कहा कि आज उन्होंने कुछ नहीं बोला, इसलिए कोई कुछ न छापे।

सत्ती की इन बातों पर बीजेपी नेताओं और पंडाल में बैठे कार्यकर्ताओं ने खूब ठहाके लगाए। सत्ती के संबोधन से ऐसा लग रहा था जैसे दो दिनों के प्रतिबंध के दौरान अपने अंदर जमी हुई घुटन को उन्होंने जमकर बाहर निकाल दिया।

चुनाव आयोग ने सत्ती पर दो दिन का बैन लगा दिया था

इससे पहले सोलन जिले में नालागढ़ विधानसभा क्षेत्र में एक चुनावी रैली में सतपाल सत्ती ने राहुल गांधी को लेकर लिखी गई गाली वाली फेसबुक पोस्ट को पढ़ा था। इस पोस्ट में राहुल को लेकर गाली दी गई थी।

इस पर चुनाव आयोग ने सत्ती पर दो दिन का बैन लगा दिया था। हालांकि, सत्ती ने इस पूरे मामले को लेकर सफाई देते हुए कहा कि उनके द्वारा की गई टिप्पणी को कांग्रेस ने गलत तरीके से लोगों के सामने लाकर उनको गुमराह किया है।

इतना ही नहीं सत्ती ने कहा कि बद्दी में उन्होंने फेसबुक पोस्ट पढ़कर लोगों को सुनाई थी, जिसमें राहुल गांधी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘चौकीदार चोर’ कहने पर गाली लिखी गई थी। उन्होंने तो सिर्फ उस पोस्ट को पढ़कर सुनाया था, लेकिन चुनाव आयोग ने सत्ती को दोषी माना।

अब एक बार फिर सत्ती के मंडी में धमकी भरे दिए गए भाषण को लेकर प्रदेश में सियासी महौल गरमा गया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने सत्ती के बयान पर आपत्ति जताते हुए शिकायत चुनाव आयोग से करने की बात कही है।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com