बिहार में मनचलों और बदमाशों के हौसले इस कदर बुलंद हैं कि वे खुलेआम लड़कियों से छेड़खानी और मारपीट करने से बाज नहीं आ रहे।

सुपौल जिसे के त्रिवेणीगंज में स्थित कस्तूरबा गांधी हाई स्कूल के छात्रावास में रहने वाली छात्राओं ने जब छेड़छाड़ का विरोध किया तो मनचलों ने छात्रावास में घुसकर लड़कियों की पिटाई कर दी। 40 घायल छात्राओं में चार को गंभीर चोट लगी है। उसे रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

त्रिवेणीगंज थाना क्षेत्र के डपरखा में कस्तुरबा हाई स्कूल में छात्राओं से मारपीट की गई। इस मामले में अब तक केस दर्ज नहीं किया गया है। घटना के बाद देर रात स्थानीय विधायक और सांसद रंजीत रंजन छात्राओं को देखने के लिए अस्पताल पहुंची थी।

घटना की शुरुआत तब हुई जब कस्तूरबा हाई स्कूल में छात्राएं खेल रही थी तभी कुछ लड़कों ने अभद्र टिप्पणी की और स्कूल की दीवार पर अपशब्द लिखे। इसका जब छात्राओं ने विरोध किया तो आरोपी लड़कों ने गांव में जाकर इसकी जानकारी दी।

जिसके बाद दर्जनों लोग छात्रावास पहुंचे और लड़कियों की पिटाई कर दी। प्रखंड विकास पदाधिकारी ममता कुमारी ने घटना के संबंध में कहा है कि जांच के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

वहीं बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने महिला और बच्चियों के खिलाफ बढ़ते अपराध को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है।

उन्होंने आज ट्वीट कर कहा, ”अखबार खोलते ही बिहार में नितीश का आतंक राज पढ़ना पड़ता है। चारों तरफ़ लूट, हत्या, बलात्कार, व्याभिचार, अपहरण के आतंक का तमाशा दिखना शुरू हो जाता हैं।”

उन्होंने कहा, ”बिहार में सुपौल के त्रिवेणीगंज के कस्तूरबा गांधी गर्ल्स स्कूल में घुसकर असामाजिक तत्वों द्वारा हॉस्टल में रहने वाली 34 छात्राओं को बुरे तरीके से मारा-पीटा गया है। बेख़ौफ गुंडों की मार से घायल सभी छात्राओं को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सरकार नरम है, अपराध चरम पर है।”