शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने नोएडा-फरीदाबाद 9 नंबर की सड़क खोली

 

नई दिल्ली : नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के खिलाफ शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने नोएडा और फरीदाबाद जाने वाले एक वैकल्पिक रास्ते को खोल दिया है।

डीसीपी (दक्षिण पूर्व नई दिल्ली) ने बताया कि शाहीनबाग के प्रदर्शकारियों के एक ग्रुप ने पहले रोड नंबर 9 को खोल दिया लेकिन कुछ देर बाद ही दूसरे ग्रुप ने इसे फिर से बंद कर दिया।

डीसीपी ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने शाहीन बाग वाले मुख्य रास्ते को नहीं खोला है। सिर्फ एक वैकल्पिक रास्ते को खोला है। प्रदर्शनकारियों द्वारा इस रास्ते को खोलने से स्थानीय लोगों को सहूलियत होगा।

जिस रास्ते को प्रदर्शकारियों ने खोला है वो आश्रम, जामिया, ओखला, बाटला हाउस से नोएडा और फरीदाबाद की ओर जाने वाला रास्ता है।

पुलिस ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने अबुल फजल वाला रास्ता खोला है, जो बेहद संकरा है। लिहाजा इस रास्ते से सिर्फ बाइक और कार ही नोएडा और फरीदाबाद के लिए जा पाएगी।

बता दें कि अभी तक प्रदर्शनकारियों ने शाहीन बाग वाले मुख्य रास्ते को नहीं खोला है।

वहीं प्रदर्शनकारियों का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त किए गए वार्ताकारों से बातचीत के बाद अबुल फजल वाले रास्ते को खोलने का फैसला लिया गया है।

इस संबंध में प्रदर्शनकारियों की दिल्ली पुलिस से कोई बातचीत नहीं हुई है। दिल्ली पुलिस का कहना है कि रास्ता खोलने को लेकर हमारी प्रदर्शनकारियों से बातचीत नहीं हुई है।

शुक्रवार को खबर आई कि शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी चाहते हैं कि प्रदर्शन स्थल के साथ लगती सड़क को अगर खोला जाता है तो उच्चतम न्यायालय प्रशासन उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने का आदेश जारी करे।

शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों ने उच्चतम न्यायालय द्वारा नियुक्त वार्ताकारों से को यह बात कही। वार्ताकार वरिष्ठ अधिवक्ता संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन ने शुक्रवार शाम को तीसरे दिन शाहीन बाग में बातचीत शुरू की थी।

अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली और नोएडा के बीच कालिंदी कुंज रोड पर शुक्रवार को भी अवरोध जारी रहा और उसमें कोई बदलाव नहीं हुआ है।