Home > Entertainment > Bollywood > घर चलाने के लिए कंडोम तक बेचने को तैयार थे शाहरुख

घर चलाने के लिए कंडोम तक बेचने को तैयार थे शाहरुख

बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान आज अपना 52वां बर्थडे सेलीब्रेट कर रहे हैं। शाहरुख खान यूं ही फिल्‍म इंडस्ट्री के बादशाह नहीं बने। इस मुकाम पर पहुंचने के लिए शाहरुख ने बहुत मेहनत की। इसमें उनका साथ उनकी पत्नी गौरी ने दिया। गौर हर मुश्किल घड़ी में शाहरुख के साथ खड़ी रहीं।

अनुपमा चोपड़ा ने शाहरुख पर लिखी अपनी किताब ‘शहंशाह-ए-बॉलीवुड’ में उनसे जुड़े कई ऐसे किस्सों का खुलासा किया है जिन्‍हें शायद आप नहीं जानते होंगे। किताब के मुताबिक, शाहरुख को सपोर्ट करने के लिए गौरी खुद भी नौकरी किया करती थीं। जब शाहरुख ने फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा था तब दर्शकों को कुंवारे रोमांटिक हीरो पसंद आते थे।

इसके चलते आमिर खान ने अपनी शादी की बात चार साल तक छिपाए रखी। इसके उलट शाहरुख ने गौरी को हर किसी से मिलवाया। कई लोगों ने शाहरुख को सलाह दी थी कि वो तब तक शादी ना करें जब तक उनकी फिल्में ‌हिट ना हों। तब शाहरुख ने कहा था, ‘मैं फिल्में छोड़ सकता हूं लेकिन शादी नहीं टाल सकता।’ शाहरुख ने अपने प्यार को सबके सामने कबूल किया था

शाहरुख ने कहा था, ‘मेरे लिए गौरी सबसे पहले आती है। अगर उसके लिए मुझे फिल्में भी छोड़नी पड़ी तो मैं छोड़ दूंगा। मैं उसके बिना पागल हो जाऊंगा। वो मेरी अमानत है। मैं उसके शरीर से प्यार करता हूं। मैं उसका दीवाना हूं।’ शाहरुख ने जब अपने करियर की शुरुआत की थी तो वो बहुत कम फीस लिया करते थे।

जब शाहरुख स्टार बन गए थे तब भी वो कम फीस लेते थे। इसलिए उन्हें कम बजट वाला स्टार कहा जाता था। पूरे देश में शाहरुख के फैन बन गए थे लेकिन उन्हें सबसे ज्यादा प्रसिद्ध‌ि तब मिली जब वो छोटे पर्दे पर आने वाले विज्ञापनों में नजर आए। जब आमिर खान एक ऐड के 7 करोड़ रुपए लेते थे। वहीं शाहरुख आधे दाम पर ऐड करते थे।

फिल्में करना शाहरुख का शौक था और विज्ञापन से उनके घर की रोजी-रोटी चलती थी। 1998 में फिल्मफेयर को दिए एक इंटरव्यू में शाहरुख ने कहा था, ‘मुझे अपने बंगले के लिए पैसों की जरूरत है। मुझे अपने बेटे के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए रुपए चाहिए। आर्थिक रूप से मजबूत होने के लिए मुझे रुपए चाहिए। उसके लिए मैं कोला भी बेचूंगा और कंडोम भी।’

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com