ज्‍योतिष में शनि को न्यायाधीश माना गया है। ये ग्रह हमारे कर्मों का फल प्रदान करता है। जिन लोगों के कर्म गलत होते हैं, उनके लिए शनि अशुभ हो जाता है। शनिवार को किसी गरीब का अपमान न करें। शनिदेव गरीबों का प्रतिनिधित्व करते हैं। इस कारण जो लोग गरीबों का अपमान करते हैं, गरीबों को परेशान करते हैं, शनि उनके जीवन में परेशानियां बढ़ा देता है। जानें किस दिन कौन सी चीज नहीं खरीदनी चाहिए…

ज्‍योतिष में शनि को न्यायाधीश माना गया है। ये ग्रह हमारे कर्मों का फल प्रदान करता है। जिन लोगों के कर्म गलत होते हैं, उनके लिए शनि अशुभ हो जाता है। शनिवार को कई काम करना अशुभ माना गया है। शास्त्रों में कहा गया है कि शनिवार को तेल बिल्कुल भी नहीं खरीदना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र में भी इसके कुछ नियम बताए गए हैं।

जानें किस दिन कौन सी चीज नहीं खरीदनी चाहिए… सरसों का तेल सरसों का तेल शनिवार को खरीदना बेहद अशुभ माना जाता है। दरअसल ऐसी मान्यता है कि इस दिन तेल खरीदने से घर में नकारात्मक प्रभाव उत्पन्न होता है जिससे अशुभ घटनाओं का जन्म होता है। साथ ही अगर कोई मांगता है तो इस दिन तेल किसी को देना भी नहीं चाहिए। काले कुत्तों को सरसों के तेल से बना हलुआ खिलाने से शनि की दशा टलती है।

शनिवार को किसी गरीब का अपमान न करें। शनिदेव गरीबों का प्रतिनिधित्व करते हैं। इस कारण जो लोग गरीबों का अपमान करते हैं, गरीबों को परेशान करते हैं, शनि उनके जीवन में परेशानियां बढ़ा देता है।

शरीर के लिए जितने जरूरी वस्त्र हैं, उतने ही जूते भी। काले रंग के जूते पसंद करने वालों की तादाद आज भी काफी है। अगर आपको काले रंग के जूते खरीदने हैं तो शनिवार को न खरीदें। कहा जाता है कि शनिवार को खरीदे गए काले जूते पहनने वाले को कार्य में असफलता दिलाते हैं।Read: मां लक्ष्‍मी का ऐसे 5 घरों में कभी नहीं होता वास, भूल कर भी ना करें ये काम

झाड़ू से घर साफ होता है और निर्मल बनता है। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का आगमन होता है। झाड़ू खरीदने के लिए शनिवार को उपयुक्त नहीं माना जाता। ऐसी मान्यता है कि शनिवार को झाड़ू घर लाने से दरिद्रता का आगमन होता है।

साथ ही अनाज पीसने के लिए चक्की भी शनिवार को नहीं खरीदनी चाहिए। ऐसी मान्यता है कि यह परिवार में तनाव लाती है और इसके आटे से बना भोजन रोगकारी होता है।