Home > festivals > शारदीय नवरात्र में दुर्गा व्रत व पूजन का विशेष महत्व

शारदीय नवरात्र में दुर्गा व्रत व पूजन का विशेष महत्व

Durga_Pujaशिकोहाबाद [TNN] शारदीय नवरात्र में दुर्गा ब्रत व पूजन का विशेष महत्व हिन्दू धर्म में माना जाता है। मान्यता है कि इन दिनों व्रत रखने वाला श्रद्वालु भक्त की मनोकामनायें माॅ दुर्गा पूर्ण करती है।

प्रारम्भ के समय यदि नक्षत्र व वैधृति योग होते हैं तो उसके पश्चात व्रत का आरम्भ करना चाहिये और व्रत प्रातः काल में ही होते हैं। नवरात्र में माॅ दुर्गा की पूजा होती है। पुरूष और महिलायें माॅ को मनाने के लिये नौ दिन तक व्रत रखती हैं।

जिसमें पहली माॅ शैलपुत्री ,दूसरी माॅ व्रहमचारिणी ,तीसरी माॅ चन्द्रघन्टा ,चैथी माॅ कुष्मांडा ,पंाॅचवी माॅ स्कन्दमाता व छठवी माता कात्यानी ,साॅतवी माता कालरात्री व आठवी महागौरी तथा नौवी माॅ सिद्विदात्री हैं।

इन्हीं शारदीय नवरात्रों में नौ देवियों के व्रत रखकर श्रद्वालु भक्त माॅ से मनोकामनायें माॅगता है। माॅ अपने श्रद्वालु भक्तों की मनोकामनायें पूर्ण करती है।
रिपोर्ट :- बनवारीलाल कुशवाह

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com