कमलनाथ ने फिर मांगे सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत, शिवराज बोले- देशभक्तों का अपमान

शिवराज सिंह चौहान ने सीएम कमलनाथ के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी ने हमेशा आतंकवादियों का गुणगान और देशभक्तों का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि अगर एमपी के सीएम की तरफ से सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर ऐसा बयान दिया गया है तो ये सेना, देश और देशभक्तों का अपमान है।नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने फिर एक बार सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांगे थे। अपने बयान पर कायम रहते हुए कमलनाथ ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक पर ना तो कोई आंकड़े हैं और ना ही कोई फोटो है, केवल मीडिया में ही इसका शोर है। वहीं, कमलनाथ के इस बयान पर भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर निशाना साधा है।

शिवराज सिंह चौहान ने सीएम कमलनाथ के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी ने हमेशा आतंकवादियों का गुणगान और देशभक्तों का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि अगर एमपी के सीएम की तरफ से सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर ऐसा बयान दिया गया है तो ये सेना, देश और देशभक्तों का अपमान है। वहीं, यूपी के डिप्टी केशव प्रसाद मौर्या ने भी कमलनाथ पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा ही सेना का मनोबल तोड़ने और सेना का अपमान करने का काम किया है।

केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि प्रधानमंत्री पद से कांग्रेस की विदाई के बाद से उनकी पार्टी के नेता बौखलाए हुए हैं। इसके पहले, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा था कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 90 हजार पाकिस्तानी सैनिकों को आत्मसमर्पण कराया था। इसे लेकर कोई नहीं बोलता। ये कहते हैं कि मैंने सर्जिकल स्ट्राइक की। कौनसी सर्जिकल स्ट्राइक की? कैसे सर्जिकल स्ट्राइक की? देश को कुछ तो बताइए इस बारे में।

कमलनाथ ने कहा कि ये राष्ट्रवाद की बात करते हैं, इनकी पार्टी में से कोई ऐसा है, जिसने स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन में भाग लिया हो। वहीं, देश में बेरोजगारी का जिक्र करते हुए कहा, ”प्रधानमंत्री मोदी रोजगार और किसानों के कल्याण के संबंध में बात नहीं करते। मैं आपसे पूछता हूं कि आपने सुना क्या कि मोदीजी ने पिछले छह माह में युवाओं के संबंध में बात की हो। किसान कल्याण की बात की हो।”