चिरायु अस्पताल से निकलने के बाद शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ‘प्रधानमंत्री आज अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास करेंगे। 500 साल पहले शुरू हुआ ‘महायज्ञ’ आज खत्म हो रहा है। पीएम नरेंद्र मोदी की इच्छाशक्ति और संकल्प ने आज उन्हें पिछले 500 वर्षों में भारत का सबसे बड़ा नेता बना दिया है।’

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को कोरोना संक्रमण से उबरने के बाद भोपाल के चिरायु अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

डॉक्टरों ने उन्हें घर पर खुद को अलग रखने और सात दिनों के लिए अपने स्वास्थ्य की निगरानी करने की सलाह दी है।

शिवराज सिंह चौहान की तीसरी रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी गई है।  25 जुलाई को शिवराज कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। उसके बाद वह भोपाल के चिरायु अस्पताल में भर्ती थे।

चिरायु अस्पताल से निकलने के बाद शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ‘प्रधानमंत्री आज अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास करेंगे। 500 साल पहले शुरू हुआ ‘महायज्ञ’ आज खत्म हो रहा है। पीएम नरेंद्र मोदी की इच्छाशक्ति और संकल्प ने आज उन्हें पिछले 500 वर्षों में भारत का सबसे बड़ा नेता बना दिया है।’

बता दें कि मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अस्पताल से ही वर्चुअल कैबिनेट बैठक की थी।

इस बैठक में चौहान ने कहा था कि यह भगवान राम के भक्तों के संघर्ष और बलिदान का परिणाम है कि राम मंदिर का निर्माण होने जा रहा है।

चौहान ने बैठक में मौजूद मंत्रियों से कहा था कि ‘मैं आज और कल अस्पताल में दीया जलाऊंगा। आप भी मिट्टी के दीये जलाएं और अपने घरों को सजाएं।’

मंगलवार को चौहान ने अस्पताल में दिया जलाया था और बुधवार को उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई।