Home > State > Delhi > कॉन्डम की शॉर्टेज,बढ़ा एड्स इन्फेक्शन का खतरा

कॉन्डम की शॉर्टेज,बढ़ा एड्स इन्फेक्शन का खतरा

Shortage of condomsनई दिल्ली – देश में 6 राज्यों में सरकार द्वारा संचालित एड्स कंट्रोल प्रोग्राम के तहत कॉन्डम्स की भारी कमी हो गई है, जिससे एचआईवी इन्फेक्शन फैलने का खतरा काफी बढ़ गया है।

एचआईवी मरीजों के साथ काम कर रहे स्वास्थ्य कर्मियों ने कॉन्डम के अलावा एचआईवी टेस्टिंग किट्स और ऐंटि-रेट्रोवायरल दवाओं की भी देशभर में कमी होने की जानकारी दी है।

यह शॉर्टेज इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि एड्स इन्फेक्शन के खिलाफ भारत की लड़ाई अभी जारी है और एचआईवी पीड़ित जनसंख्या के मामले में यूएन की लिस्ट में भारत इस वक्त तीसरे स्थान पर है।

भारत का एड्स कंट्रोल प्रोग्राम देश के 2.1 मिलियन एड्स के मरीजों में से एक तिहाई को मुफ्त इलाज देता है। लेकिन इस तरह की कमी आने से देश में न सिर्फ इस बीमारी के बढ़ने का, बल्कि नए इन्फेक्शन्स फैलने का भी डर है।

पिछले 8 महीनों से हरियाणा, उत्तराखंड और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में कॉन्डम्स की कमी हो गई है। गौरतलब है कि इन क्षेत्रों में एचआईवी फैलने की संभावना ज्यादा है। इसके अलावा प्रशासन द्वारा कॉन्डम्स की खरीद में हो रही देरी के चलते उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश और राजस्थान में भी सप्लाई में कमी आ गई है।

सूत्रों के मुताबिक, पब्लिक हेल्थ प्रोग्राम के तहत कॉन्डम्स का वितरण करने वाले समूहों ने इस बाबत राज्य एड्स बचाव और नियंत्रण सोसायटी (SACS) और दूसरे सरकारी महकमों से अर्जेंट सप्लाई करने की अपील की है।

यह मामला हाल ही में स्वास्थ्य मंत्रालय के सामने रखा गया, जिसके बाद स्वास्थ्य सचिव ने गुरुवार को राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संस्थान (NACO) के साथ बैठक की।

स्वास्थ्य सचिव लव वर्मा ने एक अखबार से बात करते हुए बताया, ‘यह मामला मेरे सामने आया है। शुक्रवार को होने वाली बैठक में हम इस परिस्थिति का आंकलन करेंगे और इस समस्या का समाधान करने के लिए उचित कदम उठाएंगे।’

सूत्रों के मुताबिक, यह कमी प्रशासन की देरी के कारण आई है। एक सूत्र ने कहा, ‘HLL लाइफकेयर डिमांड पूरी नहीं कर पा रहा है। लेकिन प्राइवेट कम्पनियों के साथ भी कोई बात नहीं बन रही है।’




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com