Home > India > कोर्ट ने शादी से पहले किए सेक्स पर दिया अहम फैसला

कोर्ट ने शादी से पहले किए सेक्स पर दिया अहम फैसला

mumbai HCमुंबई [ TNN ] बोम्बे हाईकोर्ट ने अहम फैसले में कहा है कि शादी का वादा टूटना हमेशा रेप की श्रेणी में नहीं आता है और शादी से पहले जोड़े के बीच सेक्स अब भारत के बड़े शहरों में नहीं चौंकाता है। नासिक निवासी राहुल पाटिल(बदला हुआ नाम) की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने यह टिप्पणी की।

राहुल के खिलाफ धोखाधड़ी और बलात्कार का केस दर्ज किया गया था। राहुल की पूर्व गर्लफ्रेंड सीमा देशमुख (बदला हुआ नाम) की शिकायत पर केस दर्ज किया गया था। सीमा का दावा था कि वह प्रेगनेंट है। राहुल से बने शारीरिक संबंधों से वह प्रेगनेंट हुई है। राहुल ने उससे शादी का वादा किया था लेकिन दूसरी लड़की से शादी कर ली। राहुल का दावा था कि संबंध सहमति से बने थे। वह सीमा से शादी नहीं कर सकता क्योंकि दोनों अलग अलग धर्म से हैं।

राहुल और सीमा पेशे से वकील हैं। दोनों 1999 से एक दूसरे को जानते थे। दोनों के बीच 2006 से शारीरिक संबंध बने थे। 2009 में जब राहुल ने सीमा से कहा कि वह उससे शादी नहीं कर सकता तो उसने आत्महत्या की कोशिश की। इसके बाद भी दोनों के बीच शारीरिक संबंध बने। जस्टिस मृदुला भाटकर ने कहा कि इन दिनों अफेयर के दौरान या शादी से पहले शारीरिक संबंध चौंकाता नहीं है जैसा पहले होता था। कपल सेक्स का अनुभव लेने का फैसला कर सकता है। आजकल मुंबई और पुणे जैसे मेट्रो शहरों में समाज बहुत खुला हो गया है। हमारा समाज अभी भी शादी से पहले युवाओं के बीच शारीरिक संबंधों को स्वीकारने में हिचकिचाता है। भले ही यह उनकी शारीरिक जरूरत हो।

 

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com