Home > India > पापा के बाद अब अखिलेश को चाचा की खरी-खरी

पापा के बाद अब अखिलेश को चाचा की खरी-खरी

akhilesh yadav

लखनऊ- उत्तरप्रदेश वित्त विभाग अपना काम ठीक ढंग से नहीं कर रहा है, वित्त विभाग सिचाई विभाग के काम में अड़चन पे अड़चन पैदा कर रहा है। वन विभाग भी सिचाई विभाग के कामो में दिक्कते पैदा करता रहता है। सिचाई विभाग बड़ा और ज्यादा काम करना चाहता है, पर सिचाई विभाग के इंजीनियर काम नहीं करना चाहते। ये कहना है।

उत्तरप्रदेश सरकार के सिचाई एवं जल संसाधन मंत्री शिवपाल यादव का, वो आज मुख्यमंत्री आवास पर अपने विभाग द्वारा अजोजित एक कार्यक्रम में बतौर मेहमान बोल रहे थे। आज शिवपाल यादव का सीधा निशाना मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर था। शिवपाल द्वारा जो बाते यहाँ कही गई, वो अखिलेश सरकार पर बड़े आरोप लगाती है।

आज शिवपाल ने जिन दो बड़े विभागों के ऊपर विकास कार्य में अड़चन लगाने का आरोप लगाया, वो दोनों विभाग वित्त विभाग, वन विभाग मुख्यमंत्री के पास है। उनका कहना था की वित्त और वन विभाग प्रदेशहित में सिचाई विभाग द्वारा किये जा रहे विकास कार्यो में बाधा पंहुचा रहे है। आज के सिचाई विभाग के इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की मौजूदगी में शिवपाल के उदबोधन पर जम के हँसी-ठिठोली हुई।

शिवपाल यादव ने प्रमुख सचिव दीपक सिंघल पर भी तंज कसते हुए कहा, प्रमुख सचिव साहब तो अक्सर ही विदेश में रहते है, पर लाते कुछ नहीं। बात यही खत्म नहीं हुई, शिवपाल यादव ने अपने विभाग के इंजीनियरों की जम के क्लास ली और उनके नाकारापन/ कामचोरी रवैये पर चिंता भी जताई।

भरी महफ़िल में आज सिचाई विभाग का एक इंजीनियर, उस समय हँसी का पात्र बना, जब वो मंत्री द्वारा पूछने पर मैनपुरी की उस नदी का नाम नहीं बता पाया, जिसे सरकार ने पुनर्जीवित करने का निर्णय लिया है। आज के सिचाई विभाग के इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ मुख्य सचिव अलोक रंजन, प्रमुख सचिव दीपक सिंगल सहित बड़ी संख्या में विभाग के इंजीनियर मौजूद थे।

रिपोर्ट :-शाश्वत तिवारी

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com