madhya pradeshरीवा– मध्य प्रदेश के रीवा में पुलिस द्वारा पिटाई के बाद हॉस्पिटल में पूर्व पार्षद की मौत से शहर में तनाव की स्थिति निर्मित हुई हालाँकि स्थानीय कलेक्टर और पुलिस के मुताबिक हालत नियंत्रण में हैं लेकिन धारा 144 लगाना पड़ी ! कोतवाली थाना क्षेत्र में शनिवार रात पूर्व पार्षद की मौत से भड़के समर्थकों ने कई वाहन में तोड़फोड़ कर दी। पूर्व पार्षद के समर्थकों का आरोप है कि उनकी मौत लॉकअप में पुलिस द्वारा बेरहमी से की गई पिटाई की वजह से हुई है। लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति बिगड़ती देख एसपी संजय कुमार व आईजी डी श्रीनिवास वर्मा ने देररात मोर्चा संभाला और शहर में धारा 144 लागू कर दी।

मृतक पार्षद के परिजनों और समर्थकों ने अस्पताल और पुलिस सहित अस्पताल वाहन और प्रशासनिक वाहनों में तोड़फोड़ की। परिजनों ने कोतवाली का रूख किया। रीवा में तनाव है और पूरे शहर में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। कोतवाली थाने में पथराव किया गया। एसआई की गाडी को थाने के अंदर आग के हवाले कर दिया गया। मैहर चुनाव ड्यूटी से लौट रहे पुलिस बल पर घोघर स्थित पचमठा में पथराव किया गया।
जानकारी के अनुसार गुड़हाई बाजार में शनिवार शाम पूर्व पार्षद अतीक अहमद उर्फ रॉकी अपने कुछ साथियों के साथ एक मकान को जबरन खाली करा रहे थे। इसकी शिकायत के बाद पहुंची पुलिस ने उन्हें मौके से गिरफ्तार कर लिया। समर्थकों ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने लॉकअप में रॉकी को बेरहमी से पीटा और हालत बिगड़ने पर उन्हें मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया। जहां उनकी मौत हो गई। घटना की जानकारी जैसे ही पूर्व पार्षद के समर्थकों को मिली वे उग्र हो गए। तीन सैकड़ा से अधिक समर्थक मेडिकल कॉलेज पहुंचे और तोड़फोड़ शुरू कर दी।

उपद्रवियों ने एसडीएम, टीआई और 100 डायल के तीन वाहनों समेत एक एम्बुलेंस पर पथराव कर उसे क्षतिग्रस्त कर दिया। पुलिस उपद्रवियों पर काबू कर पाती इससे पहले ही भीड़ ने एक उपनिरीक्षक की बाइक फूंक दी।