भोपाल। भोपाल रेलवे स्टेशन पर गुरुवार सुबह एक बड़ा हादसा हो गया। यहां 2 और 3 नंबर प्लेटफार्म को जोड़ने वाला फुटओवर ब्रिज का एक हिस्सा अचानक नीचे आ गिरा, जिसमें 9 लोग घायल हो गए। घटना के बाद स्टेशन पर भगदड़ की स्थिति बन गई। घटना की सूचना मिलते ही रेलवे पुलिस मौके पर पहुंची और यात्रियों को वहां से हटाया। घायलों को रेलवे के अस्पताल में इलाज के लिए भेजा गया है। घटना वाले स्टेशन से ट्रेनों की आवाजाही रोक दी गई है।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में पुराने स्टेशन पर गुरुवार को फुटओवर ब्रिज (एफओबी) के स्लोप का एक हिस्सा ढह गया। घटना के वक्त स्टेशन पर काफी लोगों की भीड़ थी। इसके मलबे में करीब 5 लोगों के दबे होने की आशंका है। पुलिस और फायर ब्रिगेड के कर्मचारी राहत-बचाव कार्य में जुटे हैं। कुछ घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

घटना में रेलवे की बड़ी लापरवाही सामने आ रही है। यहां कुछ लोगों ने पहले इस बात की सूचना दी थी कि फुटओवर ब्रिज जर्जर हो चुका है। लेकिन इसमें कोई सुधार नहीं किया गया। यह बात सामने आ रही है कि यात्री इसी ब्रिज के नीचे बैठे थे, तभी वो मलबा नीचे गिरा और सभी चिल्लाने लगे। इसके बाद से ब्रिज से गुजर रहे लोग भी पीछे की ओर भागे और नीचे उतर आए।

भोपाल रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म दो और तीन का रैंप अचानक से ढह गया, जिसमें 8 लोग जख्मी हुए हैं, इसमें तीन की हालत गंभीर है। 2-3 प्लेटफार्म पर इटारसी और बीना दोनों ओर से आने वाली करीब डेढ़ दर्जन ट्रेनों को डायवर्ट कर दिया गया है। 7 घायलों का चिरायू अस्पताल और एक का हमीदिया अस्पताल इलाज कराया जा रहा है। रेलवे ने सीसीटीवी फुटेज जारी किया है, जिसमें रैंप गिरते दिख रही है और इसके बाद मौके पर अफरातफरी मची हुई है।मप्र सरकार ने फौरी तौर पर गंभीर घायलों को 50 हजार और चोटिलों को 10 हजार की मदद दी गई है।

जहांगीराबाद निवासी एक ही परिवार के पांच लोग जख्मी हुए हैं। परिवार की सदस्य और गंभीर घायल मरियम की बहन आसिमां बी ने बताया कि इस हादसे में सबसे ज्यादा नुकसान हमारा ही हुआ है। अल्ला का शुक्र है कि हमारी जान बच गई। मेरी बहन मरियम गंभीर रूप से घायल हैं, वहीं नाहिद, सलीमुर्रहमान, खालिद और एक बच्चा अयान चोटिल हुए हैं। हम सब एक ही परिवार के लोग तिरुपति निजामुद्दीन संपर्क क्रांति एक्सप्रेस से हैदराबाद से भोपाल आए थे। हम सब (28 लोग) प्लेटफार्म नंबर 2 पर 9.04 बजे उतरे।

हमारा रिजर्वेशन ट्रेन के एस 1, एस 3 और एस 6 बोगियों में था। थोड़ी देर सबको एक जगह होने में लगा, इसके बाद हम सामान लेकर एफओबी में जाने के लिए रैंप से ऊपर चढ़ने लगे, तभी उसका एक हिस्सा गिर गया। इसमें मरियम, दब गईं। वहीं नाहिद, अमान और अयान भी छज्जे के साथ ही नीचे गिर गए। कुछ लोग नीचे बैठे हुए थे, वह भी दब गए। हमें समझ नहीं आ रहा था कि क्या हुआ। जोर से आवाज हुई और इसके बाद चीख-पुकार मच गई। हमने सामान फेंका और एक-दूसरे को खोजने लगे।