Dawood Ibrahim, Chhota Shakeelनई दिल्‍ली : इंडोनेशिया के बाली में गिरफ्तार अंडरवर्ल्‍ड डान छोटा राजन को आज भारत लाया जा सकता है। उसको वापस लाने और उससे पूछताछ के लिए सीबीआई और दिल्‍ली-मुंबई पुलिस की एक टीम सोमवार को बाली पहुंची है। अपनी वापसी से पहले उसने मीडिया के पूछे गए सवाल पर कहा कि वह दाऊद इब्राहिम और उसके गुर्गों से नहीं डरता है।

यह पूछे जाने पर कि वह दिल्‍ली या मुंबई में से किस जगह की जेल में जाना पसंद करेगा। उसने कहा कि मुंबई पुलिस ने उस पर काफी अत्‍याचार किया है। उसने आरोप लगाया कि मुंबई पुलिस के कुछ लोग दाऊद के लिए काम करते हैं। ऐसे में केंद्र को सब बातों को सोचकर ही सही फैसला लेना चाहिए।

उसने कहा कि वह सिर्फ इतना ही चाहता है कि उसके साथ अन्‍याय न हो। उसने कहा कि आतंकवाद और दाऊद के खिलाफ उसकी लड़ाई जारी रहेगी। उसने कहा कि उसके खिलाफ दर्ज सभी 70 मामले फर्जी हैं।

दाऊद को लेकर पूछे गए सवाल पर छोटा राजन ने कहा कि वह पाकिस्तान में रहे रहे अंडरवर्ल्ड डॉन से डरता-वरता नहीं है। वह हमेशा दाऊद के खिलाफ लड़ता रहा है।

गौरतलब है कि भारत के उप राष्‍ट्रपति हामिद अंसारी भी वहां की आधिकारिक यात्रा पर हैं। इन सभी के मद्देनजर छोटा राजन की जल्‍द वापसी के कयास लगाए जा रहे हैं। उसको लाने के भारत की तरफ से प्रोसेस पहले ही शुरू कर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक उसको पहले दिल्‍ली लाया जाएगा फिर यहां से उसको मुंबई ले जाया जाएगा।

बाली में मिलने के लिए भारतीय दुतावास के फर्स्‍ट सेक्रेटरी संजीव कुमार अग्रवाल ने इस बीच दो बार छोटा राजन से मुलाकात की है। छोटा राजन की वापसी के मद्देनजर मुंबई स्थित ऑर्थर रोड जेल की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। भारत लाने के बाद छोटा राजन को यहीं पर रखा जाएगा। इसकी एक वजह यह भी है कि उसके कई मामले मुंबई में ही दर्ज हैं। इसकी एक अन्‍य वजह उसको अंडरवर्ल्‍ड डान दाऊद इब्राहिम के गुर्गों से बचाना भी है। गौरतलब है कि छोटा राजन की गिरफ्तारी के बाद दाऊद को लेकर वह कई सारे खुलासे कर सकता है। इस लिहाज से वह दाऊद का सबसे बड़ा कांटा भी बन गया है। हालांकि दाऊद के कुछ साथी इसी जेल में पहले से ही बंद भी हैं।

माना जा रहा है कि छोटा राजन को यहां पर उसी हाई सिक्‍योरिटी सेल में रखा जाएगा जिसमें मुंबई हमले के दोषी अजमल कसाब को रखा गया था। यहां उसकी सुरक्षा की जिम्‍मेदारी एक बार फिर से आईटीबीपी के जवान ही संभालेंगे। फिलहाल बाली जेल में बंद छोटा राजन ने कहा है कि वह दाऊद के गुर्गों को लेकर डरा हुआ नहीं है। हालांकि उसने माना है कि वह उसके पीछे पड़ा है।

उस पर संभावित खतरे को देखते हुए छोटा राजन की सुरक्षा में कमांडो तैनात किए गए हैं। भारत के निवासी राजन निखालजे भारत में छोटा राजन के ऊपर टाडा, पोटा और मकोका के तहत मामले दर्ज हैं। इंटरपोल ने उसके खिलाफ 1995 में रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था। पिछले दिनों वह फर्जी पासपोर्ट पर सफर करते हुए बाली में गिरफ्तार किया गया था।- एजेंसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here