Home > India > सेल्फी लेने के चक्कर में चली गई जान

सेल्फी लेने के चक्कर में चली गई जान

mobile_selfie_diedबालाघाट – लालबर्रा थाना क्षेत्र के अमोली में नहर की पुलिया के पास नहर पर खड़े होकर सेल्फी लेने के दौरान एक मासूम फिसल गया। अपने बेटे को नहर में बहता देख पिता ने भी नहर में छलांग लगा दी। इससे पहले की पिता संजय दुबे बेटे अभिनव (9) को बचा पाते पिता को डूबता देख नजदीक खड़े बड़े बेटे अमन (15) ने भी छलांग लगा दी। इससे पहले भी की वे नहर के किनारे लगते तेज बहाव में बहते चले गये।

पिता को बचाने नहर में कूदा अमन झाड़ी के सहारे तेज बहाव में रुक गया। जिसे नहर किनारे खेल रहे दो स्कूली बच्चों ने बाहर निकाल लिया। घटना की जानकारी मिलते ही स्थानीय ग्रामीण व पुलिस मौके पर पहुंच गये। नहर में बहे संजय दुबे (42) को घटना स्थल से करीब 5 किमी दूर मृत अवस्था में निकाला गया। जबकि शाम करीब 5 बजे तक अभि का कोई पता नहीं चला।

पानी के तेज बहाव में बहे संजय दुबे व अभि को पानी से बाहर निकालने अमोली, बेलगांव व मिरेगांव में स्थित नहर की पुलिया पर लकड़ी, बल्ली व जाल से रोकने का प्रयास किया गया। घटना स्थल से करीब 5 किमी दूर संजय की लाश बरामद हो गई।

भाई राजेश दुबे के अनुसार लालबर्रा निवासी संजय नागपुर में सीए की कोचिंग पढ़ाते हैं। वे लालबर्रा अपनी बड़ी मां की तेरहवीं में आए थे। 2 अक्टूबर को तेरहवीं के कार्यक्रम में शामिल होने आए संजय 3 अक्टूबर की सुबह अपने बेटे अमन व अभि के साथ अपनी कार में घूमने निकले थे। जहां अमोली में ढूटी बांयी तट नहर में खड़े होकर अपने मोबाइल कैमरे से फोटो निकलवा रहे थे। इसी दौरान छोटा बेटा अभि नहर में गिर गया।

अभि का अब तक पता नहीं लगा है। पुलिस ने संजय दुबे की लाश बरामद कर ली है। इस हादसे से अमन सदमे में आ गया है। हालांकि घटना की जानकारी शनिवार की शाम 5 बजे तक मृतक की पत्नी प्रिया को परिजनों ने नहीं दी है।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com