RILनई दिल्ली – कॉर्पोरेट जासूसी मामले में जांच की आंच अब बड़े लोगों तक पहुंचने लगी है। दिल्ली पुलिस ने इस मामले में आरआईएल के प्रेजिडेंट (कॉर्पोरेट अफेयर्स) शंकर अदावल से अनौपचारिक पूछताछ की है। दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को उनके ऑफिस में रेड कर उनका कंप्यूटर भी सीज कर लिया। सूत्रों के मुताबिक दो और एनर्जी कंपनियों के ऑफिस में रेड की गई और वहां से भी कागजात जब्त किए गए हैं। अदावल, आरआईएल (रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड) के 4G प्रॉजेक्ट- रिलायंस जियो के रेग्युलेटरी ऐंड कॉर्पोरेट अफेयर्स के भी हेड हैं। अदावल को जल्द ही पूछताछ के लिए पेश होने को औपचारिक समन भेजा जाएगा। भारत सरकार के मंत्रालयों के अहम दस्तावेज लीक होने के मामले में दिल्ली पुलिस के उनसे 20 सवाल पूछे जाने की उम्मीद है।

इससे पहले, अदावल को 2002 में सीबीआई ने दस्तावेज लीक होने के मामले में अरेस्ट किया था। उस समय वह आरआईएल में जनरल मैनेजर (कॉर्पोरेट अफेयर्स) थे। करीब 13 साल पहले दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश पर उनके साथ ग्रुप के वाइस प्रेजिडेंट एएन सेतुरमन को भी अरेस्ट किया गया था। वह केस अब भी चल रहा है।

पुलिस का मानना है कि गिरफ्तार कर्मचारियों की कंपनियों (एनर्जी) के कुछ बड़े अधिकारी भी दस्तावेज लीक करने के मामले में मिले हुए हैं। पुलिस ने अदालत में कहा है कि इन कंपनियों को लीक हुए दस्तावेज से अप्रत्याशित लाभ पहुंचा है।

इस मामले में कंपनियों के वरिष्ठ अधिकारियों से पूछताछ के लिए गृह मंत्रालय और आईबी के अधिकारियों को भी भरोसे में लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here