lok-sabhaनई दिल्ली – मानसून सत्र की शुरुआत से पहले आज लोकसभा अध्यक्ष और संसदीय कार्यमंत्री ने सभी दलों की बैठक बुलाई है। बैठक का मुख्य एजेंडा सत्र को शांतिपूर्ण तरीके से चलाना है। जहां एक ओर संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू की ओर से सुबह 10 बजे सभी दलों के नेताओं की बैठक बुलाई गई है। वहीं, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने दोपहर 12 बजे सभी दलों की बैठक बुलाई है। गौरतलब है कि लोकसभा का मानसून सत्र मंगलवार से शुरू होकर 13 अगस्त तक चलेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सदन में सरकार की एकजुटता दिखाने और मुद्दों पर एक रणनीति बनाने के लिए आज एनडीए के सभी घटक दलों के साथ बैठक बुलाई है। आज ही लंबे समय से अटके जीएसटी बिल पर गठित राज्य सभा की सेलेक्ट कमेटी अपनी रिपोर्ट को अंतिम रूप देगी। कांग्रेस को अब भी जीएसटी बिल के कुछ प्रावधानों पर आपत्ति है। कमिटी में कांग्रेस के सदस्यों ने असहमति का पत्र दिया है।

सरकार को घेरने के लिए विपक्ष के पास व्यापमं, ललित गेट, छत्तीसगढ़ का राशन घोटाला और महाराष्ट्र के चिक्की घोटाले जैसे मुद्दे हैं। इसके अलावा कांग्रेस ने पहले ही साफ कर दिया है कि यदि सरकार को सदन शांतिपूर्ण तरीके से चलाना है तो दागी मंत्रियों को सरकार से हटाना होगा।

संसद के मानसून सत्र की रणनीति बनाने के लिए कल शाम पीएम नरेंद्र मोदी ने कुछ वरिष्ठ मंत्रियों के साथ भी बैठक की थी। इस बैठक में विपक्ष को मुद्दों पर करारा जवाब देने का फैसला लिया गया है। कैबिनेट मंत्रियों की बैठक से पहले पीएम नरेंद्र मोदी से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी मुलाकात की थी। कल ही पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह से राजस्‍थान और मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे और शिवराज सिंह चौहान ने मुलाकात की थी। यह मुलाकात मुख्‍य रूप से व्‍यापमं और ललित गेट कांड में अपनी रणनीति बनाने के लिए बुलाई गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here