live in relationshipजयपुर/जैसलमेर– आईपीएस पति के खिलाफ पत्नी ने महिला आयोग में रिपोर्ट दर्ज कराई कि उनके पति साथी महिला आईपीएस के साथ लिव इन में रह रहे हैं और उनके दो बच्चे भी हैं ! उन्होंने आयोग से न्याय दिलाने की मांग की है।

जीहां पाकिस्तान सीमा से सटे जैसलमेर जिले के पुलिस अधीक्षक रहते गाजी फकीर की हिस्ट्रीशीट खोलकर चर्चा में रहे आईपीएस पंकज चौधरी अब निजी जिंदगी के कारण विवाद में आ गए हैं।

उनकी पत्नी सुधा गुप्ता ने मंगलवार को महिला आयोग में शिकायत दर्ज करवाई कि पंकज एक महिला आईपीएस के साथ लिव-इन में रहते हैं। उन्होंने आयोग से न्याय दिलाने की मांग की है। सुधा अपनी सात वर्षीय पुत्री के साथ आयोग पहुंची थीं। सुधा ने शिकायत में कहा है कि पंकज जिस महिला के साथ रह रहे हैं, उससे उनके बच्चे भी हैं।

महिला आए दिन सुधा को धमकियां दे रही है। पंकज पर आरोप है कि संबंधित महिला ने पंकज के साथ शादी भी कर ली है और इसके बाद से पंकज और वो महिला उनपर तलाक लेने के लिए दबाव बना रहे हैं।

सुधा ने कहा कि उन्होंने इस संबंध में पुलिस महकमें में भी शिकायतें की, लकिन कुछ नहीं हुआ। गौरतलब है कि पंकज चौधरी और सुधा गुप्ता का विवाह 4 दिसंबर 2005 को वाराणसी में हुआ था।

उस समय पंकज मिनिस्ट्री ऑफ कॉमर्स में ऑडिटर के पद पर कार्यरत थे। वर्ष 2008 में उनकी पुत्री का जन्म हुआ, जो हाथरस में सातवीं कक्षा में पढ़ रही है। वर्ष 2008 में पंकज का चयन भारतीय पुलिस सेवा में हो गया और 2009 को उन्हें राजस्थान कैडर प्राप्त हुआ। पत्नी सुधा गुप्ता के साथ विवाद होने के बाद मामला अक्टूबर 2009 में वाराणसी के पारिवारिक कोर्ट पहुंच गया।

पंकज चौधरी ने यहां सुधा गुप्ता से तलाक की अर्जी लगाई थी। लेकिन कोर्ट ने साल 2013 को पंकज की अर्जी खारिज कर दी। इसके बाद पंकज चौधरी ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। पत्नी सुधा ने महिला आयोग से ये भी शिकायत की है कि पंकज अपने भाइयों और परिवार के अन्य सदस्यों से फोन कर मुकदमा वापस लेने और राजीनामे का दबाव बना रहे हैं।