Home > India News > J&K: हिजबुल कमांडर की मौत के बाद तनाव, अमरनाथ यात्रा रोकी

J&K: हिजबुल कमांडर की मौत के बाद तनाव, अमरनाथ यात्रा रोकी

Jammu-And-Kashmir-amarnath-yatra-News-In-Hindiजम्मू- कश्मीर अनंतनाग के पास हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर मुजफ्फर वानी को मार गिराया गया ! जिसको लेकर कश्मीर के श्रीनगर, पुलवामा में तनाव बरक़रार है ! संबंधित क्षेत्र में कर्फ्यू लगने एवं कश्मीर घाटी में तनाव के बाद अमरनाथ यात्रा रोक दी गई है।

शनिवार को किसी भी तीर्थयात्री को जम्मू से अमरनाथ यात्रा के लिए रवाना नहीं होने दिया गया। जम्मू-कश्मीर में कूकरनाग के पास हिज़्बुल कमांडर बुरहान मुज़फ्फर वानी के मारे जाने के बाद श्रीनगर और पुलवामा में तनाव बरकरार है। बुरहान के मारे जाने के बाद से ही दक्षिण कश्मीर, पुलवामा समेत श्रीगर के कई इलाकों में कर्फ़्यू लगा दिया गया है।

जम्मू में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, “हिजबुल मुजाहिद्दीन कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद उपजे तनाव की वजह से जम्मू के भगवती नगर यात्री निवास से किसी भी यात्री को कश्मीर जाने की अनुमति नहीं दी गई।”

उन्होंने कहा, “इस स्थिति की बाद में समीक्षा की जाएगी। तब तक अमरनाथ यात्रा रुकी रहेगी।” आपको बात दे कि अब तक अमरनाथ यात्रा सामान्य ही रही है। अब तक 80,000 से अधिक श्रद्धालु पवित्र गुफा में बाबा बर्फानी के दर्शन कर चुके हैं।

कौन था बुरहान मुज़फ्फर वानी
– 15 साल की उम्र में ही 2010 में बुरहान अपने भाई के मारे जाने के बाद टेररिस्ट ग्रुप हिज्बुल से जुड़ा।
– उसका मानना था कि उसके भाई की इंडियन आर्मी ने हत्या कर दी थी। वह इसका बदला लेना चाहता था।
– कश्मीर के त्राल का रहने वाला बुरहान वानी एक रसूखदार फैमिली से था।
– उस पर कश्मीर के एजुकेटेड यूथ को हिज्बुल से जोड़ने का जिम्मा था।
– उस पर 10 लाख का इनाम भी घोषित किया गया था।

अनंतनाग के पास मुठभेड़ में बुरहान को मार गिराया गया…
कश्मीर का पोस्टर ब्‍वॉय कहलाया जाने वाला बुरहान वानी सुरक्षा बलों के साथ एंकाउंटर में मारा गया। शुक्रवार को करीब सवा घंटे चली मुठभेड़ में सेना और पुलिस ने बुरहान वानी और उसके तीन साथियों को मार गिराया। इसके बाद सुरक्षा बलों और लोगों के बीच झड़पें भी हुईं। एक दो जगहों पर सीआरपीएफ के बंकर में समर्थक भीड़ ने आग भी लगा दी। पुलिस चौकी पर भी हमले किए गए। पत्थरबाजी में जवान घायल भी हुए है । लेकिन हालता की गंभीरता को देखते हुए सुरक्षाबलों ने काफी संयम के साथ काम लिया है।

केवल हिज्बुल के ही नहीं, इस साल सुरक्षाबलों ने रिकॉर्ड संख्यां में जम्मू कश्मीर में सक्रिय सारे आतंकी संगठनों को टॉप कमांडर को मार गिराया है। जम्मू कश्मीर पुलिस के डीजीपी के रज़िंदर ने एनडीटीवी को बताया, “यह सुरक्षा बलों के लिए एक बड़ी कामयाबी है। बुरहान नौजवानों को बरगालाता था और उन्हें प्रभावित भी करता था।”

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .