Home > India News > शिक्षा मंत्री के क्षेत्र में ही नहीं हैं शिक्षक, कैसे बनेंगे हम साइंटिस्ट

शिक्षा मंत्री के क्षेत्र में ही नहीं हैं शिक्षक, कैसे बनेंगे हम साइंटिस्ट

खंडवा : देश विज्ञान के क्षेत्र में आगे बढ़ने के निरंतर प्रयास कर रहा हैं ऐसे में हमारी शिक्षा व्यवस्था का लचर रवैया देश को अच्छे वैज्ञानिक बनने से महरूम कर रहा हैं। ऐसा इस लिए कहा जा रहा है क्योंकि मध्यप्रदेश के शिक्षा मंत्री के गृह क्षेत्र में ही विज्ञान संकाय के शिक्षक नहीं होने से छात्रों के सामने अब अपने भविष्य को लेकर चिंता सताने लगी हैं। छात्रों की माने तो अब उनका भविष्य अंधकार में हैं। छात्रों ने इसके लिए व्यवस्था को जिम्मेदार ठराया हैं। शिक्षक नहीं होने से छात्र अपनी समस्या लेकर जिला कलेक्टर कार्यालय आए थे जहा उन्होंने शिक्षकों की न्युक्ति की मांग के लिए धरना दिया।

खंडवा के रणगांव शासकीय हायर सेकंडरी के छात्र अपनी स्कुल में विज्ञान संकाय के शिक्षकों की न्युक्ति की मांग को लेकर शुक्रवार सुबह जिला कलेक्टर कार्यालय पहुंचे। खंडवा कलेक्टर अपने कार्यालय में नहीं होने से छात्रों ने वहा मौजूद अधिकारीयों को अपना ज्ञापन तो सौप दिया लेकिन कलेक्टर से मिलन कर इस समस्या का समाधान करवाने के लिए वे वही धरने पर बैठ गए। धरने पर बैठे छात्रों ने परिसर में ही अपनी क्लास लगा ली। गुस्साए छात्रों का कहना है की शिक्षक नहीं होने से उनका भविष्य अंधकार में दिखाई दे रहा है पर हमारी चिंता किसी को नहीं है। छात्रों ने कहा कि अगर हमरे भविष्य के साथ कुछ बुरा होता है तो उसकी जिम्मेदारी शासन की होगी।

रणगांव शासकीय हायर सेकंडरी छात्रा सपना गौर तेज़ न्यूज़ से बात करते हुए कहा कि वे सांइस की छात्रा हैं पर हमारी स्कुल में साइंस के शिक्षक नहीं है इस लिए हम लोग कलेक्टर साहब को आवेदन देने आए हैं। ताकि हमारे स्कुल की शिक्षा व्यवस्ता ठीक हो और हम सही ढंग से पढाई कर सकें। सपना ने बताया की छः मई की परीक्षा नजदीक है और हमने अभी कोर्स को पढ़ा ही नहीं है क्यों की विषय को पढ़ाने वाले शिक्षक ही नहीं है। हमलोग विषयवार शिक्षकों की सूचि बना कर लाए है जिसे हम कलेक्टर शब् को दिखेंगे। हम लोग उनसे मांग करेंगे की हमारे भविष्य को देखते हुए हमें शिक्षक उपलब्ध कराए जाए। सपना ने बताया की सामान्य अंग्रेजी , राजनितिक विज्ञान ,रसायन शास्त्र , भौतिक शास्त्र और गणित के शिक्षक नहीं होने से पढाई करना मुश्किल हो गया है। छात्र अपने स्कुल में दो दिनों से हड़ताल पर हैं। धरने पर बैठे छात्र चार घंटे तक जिला कलेक्टर अभिषेक सिंह का इंतज़ार करते रहे। बताया गया की कलेक्टर किसी काम के सिलसिले में दौरे पर है।

खंडवा शिक्षा मंत्री विजय शाह का गृह जिला है। जब इस जिले में पढाई के लिए शिक्षकों की कमी है तो प्रदेश के अन्य जिलों में शिक्षा भगवान भरोसे ही होगी।
रिपोर्ट @ निशात सिद्दीकी

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .