Home > India News > खंडवा : शराब दुकान के विरोध में चक्का जाम, तोड़फोड़

खंडवा : शराब दुकान के विरोध में चक्का जाम, तोड़फोड़

खंडवा : खंडवा में रहवासी क्षेत्र में खुली शराब दुकान के विरोध में महिलाएं सड़क पर उतरी और चक्का जाम कर दिया। एक दिन पहले ही इन महिलाओं ने प्रशासन को 24 घंटे की मोहलत दी थी। जब कोई कार्यवाही नही हुई तो क्षेत्र के सैकड़ो महिला पुरुष सड़क पर उतरे और जमकर नारेबाजी करते हुए चक्का जाम कर दिया। बड़ी मशक्कत के बाद पुलिस और आबकारी विभाग के अधिकारियों ने स्थिति को संभाला। फिलहाल दुकान बंद कर दी गई है लेकिन स्थानांतरित नही हुई है। आबकारी विभाग के अधिकारी पेशोपेश में है।

जनता हो रही है परेशान, मामा सो रहा चादर तान, जिला प्रशासन हाय हाय, बंद करो ब़द करो शराब दुकान बंद करो जैसै नारे लगाये।
और लाल चौकी क्षेत्र की महिलाएं शराब दुकान को अपनी कालोनी से हटाने के लिए सड़कों पर उतरी। यह महिलाएं पिछले 15 दिन से विरोध कर रही हैं।

कल ही इन्होंने गांधी जी की प्रतिमा के साथ एस पी, और कलेक्टर को ज्ञापन दिया था । साथ ही समस्या का हल नही होने पर बड़ा आंदोलन करने की चेतावनी दी थी। आज इन महिलाओं ने चक्का जाम कर अपनी ताकत दिख दी। इस प्रदर्शन में स्कूल कालेज की लड़कियां भी शामिल थी। महिलाओं का कहना था कि कलेक्टर को पहले ही मोहलत दी थी उन्होंने कुछ नही किया। प्रशासन कुछ नही सुन रहा।
प्रदर्शन कर रही महिला संगीता व्यास ने बताया एक सप्ताह से धूप में बैठकर शराब दुकान का विरोध कर रही हैं लेकिन कोई कार्रवाई करने को तैयार नहीं है। हमने प्रशासन को 24 घंटे का समय दिया था। इसके बाद भी दुकान बंद नहीं हुई। इसलिए आज हमने  चक्काजाम किया।

मामले की गंभीरता को देखते हुए कलेक्टर ने एक प्रतिनिधि मंडल इन महिलाओं से बात करने भेजा लेकिन भीड़ के आक्रोश ने उनकी एक न सुनी। पुलिस ने एक घंटे बाद यातायात सुगम बनाया। इस दौरान लोग रेलवे पटरी क्रॉस करते हुए अपने गंतव्य पर पहुचें। हालांकि इस पटरी पर रेल आवागमन बंद है।

आबकारी विभाग के अफसर भी यहां पहुचे लेकिन महिलाएं आश्वासन के बजाय शराब दुकान पर सील लगाकर पक्का इंतजाम करने की बात पर अड़ी रही। आखिर में आबकारी अफसर भी दुकान को अस्थाई रूप से बंद कर स्थाई हल ढूंढने की बात करते अपने कार्यालय लौट आए । यह अफसर अब सरकारी नीति में इस समस्या का हल ढूंढ रहे है। फिलहाल दुकान अस्थाई रूप से बंद कर दी गई है लेकिन महिलाओं ने साफ कर दिया कि शराब दुकान स्थानांतरित होने तक उनका आंदोलन जारी रहेगा।

दूसरी ओर इसी मार्ग पर कुछ ही दूरी पर स्थित देशी शराब की दुकान में भी महिलाओं ने तोड़फोड़ कर दी। खाली शराब की बोतल काउंटर पर फेंक कर मारी। कर्मचारियों को दुकान के अंदर ही बंद कर दिया था। यहां भी आधे घंटे तक विरोध प्रदर्शन किया जाता रहा। कर्मचारियों को बाहर निकालकर दुकान पर ताला लगा दिया गया। गुरुवार को महिलाओं द्वारा इस दुकान के सामने धरना दिया जाएगा।

रिपोर्ट @ शुभम जायसवाल 

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .