Home > India News > उन्नाव गैंगरेप: हाईकोर्ट ने लिया संज्ञान, यूपी सरकार से मांगी रिपोर्ट

उन्नाव गैंगरेप: हाईकोर्ट ने लिया संज्ञान, यूपी सरकार से मांगी रिपोर्ट

उन्नाव : उन्नाव दुष्कर्म कांड को लेकर पुलिस अपनी जांच तेज कर रही है और इसी कड़ी में एडीजी के नेतृत्व में एसआईटी की टीम दुष्कर्म पीड़िता को जांच के लिए माखी गांव पहुंची है। बता दें कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार एसआईटी को आज शाम तक रिपोर्ट सौंपनी है। इस बीच इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मीडिया रिपोर्ट्स के आधार पर पूरे मामले में संज्ञान लेते हुए महाधिवक्ता को बहस के लिए बुलाया है साथ ही यूपी सरकार से रिपोर्ट भी तलब की है। कोर्ट ने मामले में यथास्थिति बनाए रखने को कहा है।

वहीं दूसरी तरफ आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर की पत्नी ने डीजीपी से मुलाकात कर अपने पति को निर्दोष बताया है।मीडिया से बात करते हुए विधायक की पत्नी ने कहा कि मेरे पति को फंसाया जा रहा है और यह एक राजनीतिक षडयंत्र है। उन्होंने इस मामले में गिरफ्तार किए गए अपने देवर और विधायक के भाई अतुल सिंह को भी बेकसूर करार दिया है। इस बीच खबर है कि एसआईटी इस मामले में कुलदीप सेंगर से पूछताछ कर सकती है।

उन्नाव के माखी में हुए दुष्कर्म कांड में आज शाम तक राज्य सरकार कड़े कदम उठा सकती है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर इस मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी को 24 घंटे के भीतर रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है। यह रिपोर्ट आज शाम तक आ सकती है। इसके बाद कानून व्यवस्था के मुद्दे पर सख्त संदेश देने के लिए कड़े कदम उठाए जा सकते हैं। इस बीच विपक्ष ने मांग की है कि आरोपी विधायक को गिरफ्तार किया जाए।

इससे पहले पुलिस अभिरक्षा में मौत के बाद हरकत में आई पुलिस ने मंगलवार को बांगरमऊ के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के भाई अतुल सिंह को गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में चार अन्य आरोपितों को भी गिरफ्तारी हुई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने भी यह मान लिया है कि पीड़िता के पिता की हत्या हुई है। लिहाजा पहले से दर्ज मारपीट के मुकदमे में हत्या की धारा बढ़ा दी गई है। गिरफ्तार आरोपितों को कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है। इस बीच शासन ने एडीजी लखनऊ जोन राजीव कृष्ण के नेतृत्व में एसआईटी गठित की है। राष्ट्रीय व राज्य मानवाधिकार आयोग ने भी पूरे मामले में रिपोर्ट तलब की है।

विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के भाई व उसके गुर्गों की जिस बर्बरता पर पुलिस पर्दा डालने की कोशिश कर रही थी, उसे दुष्कर्म पीड़िता के पिता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने जगजाहिर कर दिया। सोमवार को आधी रात के बाद रिपोर्ट आई तो पता चला कि पीड़िता के पिता के शरीर में गंभीर अंदरूनी चोटें थीं। इसके बाद पुलिस कार्रवाई पर मजबूर हुई और मंगलवार भोर में ही विधायक के भाई अतुल सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया।

डीआईजी कानून-व्यवस्था प्रवीण कुमार ने बताया कि मारपीट के मामले में सोमवार को आरोपित विनीत, बउवा, शैलू व सोनू को गिरफ्तार किया गया था। एसआइटी उन्नाव के माखी थाने में दर्ज मारपीट व हत्या के मुकदमों, विधायक पर लगे दुष्कर्म के आरोप सहित प्रकरण से जुड़े सभी बिंदुओं पर जांच करेगी। पीड़िता की ओर से दिए गए प्रार्थनापत्र भी जांच में शामिल किए जाएंगे। एडीजी कानून-व्यवस्था आनन्द कुमार ने कहा कि विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से भी पूछताछ की जाएगी।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण बड़ी आंत का फटना व शरीर में संक्रमण फैलना पाया गया है। पीड़िता के पिता के शरीर में गंभीर अंदरूनी चोटें थीं। आंते फटने से उन्हें सेप्टीसीमिया हो गया जो मौत की वजह बना। सोमवार रात परिजनों ने पोस्टमार्टम पर सहमति दी।

पोस्टमार्टम डॉ. तन्मय कक्कड़, डॉ. डीपी सरोज और डॉ. आरके चौरसिया के पैनल से कराया गया। रात पौने बारह बजे शुरू हुआ पोस्टमार्टम सवा एक बजे पूरा हुआ। डाक्टरों की रिपोर्ट के मुताबिक आंत फटने के कारण पेट में गंदा पानी जमा हुआ जिससे इंफेक्शन फैला। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि शरीर में चौदह चोटें बाहरी और एक अंदरूनी हैं।

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .