murder_knife_crime_stab_genericअहमदाबाद – GLS यूनिवर्सिटी के 23 वर्षीय एलएलबी स्टूडेंट के मर्डर की जांच कर रही पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। जितेंद्र ऑड के कत्ल के आरोप में नाबालिग सहित 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। चारों को, शुक्रवार, शाम 7:30 बजे मकरबा रोड से उस वक्त पकड़ा गया जब वो एक वेरना कार में थे।

जांच के दौरान, पुलिस को मालूम हुआ कि 10वीं के छात्र राजा (परिवर्तित नाम), FD कॉलेज के स्टूडेंट शुभम मिस्त्री, 20 , GB शाह कॉलेज के स्टूडेंट मीत सोलंकी, 19 और एक प्राइवेट फर्म के कर्मचारी रवि राठौड़, 21, ने इस हत्या को योजनाबद्ध तरीके से अंजाम दिया।

पुलिस इंस्पेक्टर एजी गोहिल ने बताया कि वेजलपुर गाम के रहने वाले राजा को शक था कि जितेंद्र और उसकी मां के बीच अफेयर है। गुस्से में आकर उसने शुभम, रवि और मीत के साथ मिलकर एक योजना बनाई। जितेंद्र को फोन कर वेजलपुर में भवानी मंदिर के पीछे मिलने के लिए बुलाया गया और वहीं उसकी हत्या कर दी गई।

पुलिस के मुताबिक, राजा के पिता की दो साल पहले मृत्यु हो चुकी है। जितेंद्र का अक्सर राजा के घर आना-जाना बना रहता था। लगभग डेढ़ महीने पहले उसे जितेंद्र की गतिविधि संदिग्ध नजर आनी शुरू हुई। इसके बाद उसने जितेंद्र और अपनी मां पर नजर रखना शुरू किया। एक दिन, जब राजा की मां ने यह जानना चाहा कि वह कहां है तो उसने अपनी लोकेशन जानबूझकर दूर बताई। उसे शक था कि जितेंद्र उसके घर पर ही था। लोकेशन के बारे में उसने झूठ बोला और फिर अचानक घर पहुंच गया।

उसने जितेंद्र को घर में जाते देखा। यही बात बाद में मर्डर की वजह बनी। 20 अप्रैल को, चारों दोस्तों ने बीयर पार्टी रखी और फिर जितेंद्र को फोन कर स्पॉट पर बुलाया। अफेयर की बात से जितेंद्र के इनकार के बावजूद, चारों ने उसके शरीर में चाकू और पाइप घोंपकर उसे मार दिया। पुलिस ने आगे बताया कि बरामद की गई कार राजा के ही एक रिश्तेदार की है लेकिन वही अक्सर उसे इस्तेमाल करता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here