राबड़ी देवी के समर्थन में उतरे सुशील मोदी, जानें क्या है मामला

पटना: बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा है कि भले सृजन घोटाले के समय मुख्यमंत्री राबड़ी देवी थीं, लेकिन केवल इस आधार पर उनके खिलाफ कोई मामला या आरोप नहीं लगाया जा सकता। सुशील मोदी मंगलवार को बिहार विधानसभा में पत्रकारों से बात कर रहे थे। सुशील मोदी का कहना है कि किसी भी व्यक्ति को वह चाहे मुख्यमंत्री हो या वित्तमंत्री केवल उस कार्यकाल में घोटाला होने से उनकी संलिप्तता साबित नहीं होती, लेकिन अगर जांच में किसी के खिलाफ साक्ष्य पाया गया तो उसे छोड़ा नहीं जाएगा।

सुशील मोदी ने कहा कि वह चाहे भाजपा का नेता हो या जनता दल यूनाइटेड या राजद का नेता। अगर घोटाले में उसके खिलाफ सबूत पाया गया तो जांच एजेंसी उनके खिलाफ कार्रवाई करेगी। लेकिन अपने खिलाफ आरोपों पर सुशील मोदी ने कहा कि राजद के अब्दुल बारी सिद्दीकी भी मंत्री रहे और तेजप्रताप यादव जब स्वास्थ्य मंत्री थे तब भी उनके विभाग के पैसे का गबन हुआ, लेकिन इससे इनको दोषी नहीं माना जा सकता।

सृजन के मुद्दे पर बिहार विधान मंडल के दोनों सदनों में मंगलवार को हंगामा हुआ। सदन को स्थगित भी करना पड़ा, लेकिन सुशील मोदी ने दावा किया कि इस घोटाले पर सरकार सदन में जवाब देने के लिए तैयार है। लालू यादव के आरोपों पर सुशील मोदी ने कहा कि कम से कम सीबीआई जांच पर सवाल नहीं करेंगे भले वह उनके खिलाफ ही क्यों ना हो।