गुजरात एटीएस ने आईएस के दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया - Tez News
Home > State > Gujarat > गुजरात एटीएस ने आईएस के दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया

गुजरात एटीएस ने आईएस के दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया

DEMO- PIC

राजकोट- गुजरात एटीएस ने आईएस के दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया है। यह दोनो लोन वुल्फ अटैक की तैयारी कर रहे थे। यह दोनों भाई हैं और कहा जा रहा है कि इनके पास से बम बनाने का समान भी बरामद हुआ है।

आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने रविवार को गुजरात के राजकोट और भावनगर से दो संदिग्ध आईएसआईएस (इस्लामिक स्टेट) के आतंकियों को गिरफ्तार किया है। वसीम रामोदिया और नईम रामोदिया पर आईएस से जुड़े होने का आरोप है। गुजरात एटीएस से जुड़े सूत्रों का कहना है कि दोनों पर पिछले दो साल से नजर रखी जा रही थी। वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि दोनों भाई प्रसिद्ध चामुंडा मंदिर में बड़े धमाके की साजिश रच रहे थे। मंदिर राजकोट के पास है।

एटीएस के अनुसार, ‘नईम को भावनगर से और उसके भाई वसीम को राजकोट से अलग-अलग ऑपरेशन के जरिए गिरफ्तार किया गया।’ गुजरात से पहली बार किसी आईएस संदिग्ध को अरेस्ट किया गया है। एटीएस ने दोनों के पास से केमिकल पाउडर, विस्फोटक सामग्री, बैटरी, आईएस से जुड़े साहित्य और कई सारे ऑडियो टेप बरामद हुए हैं। सोशल मीडिया माध्यमों के जरिए दोनों इराक और सीरिया में आईएस के आकाओं से संपर्क में थे।

एटीएस ने यह भी बताया कि दोनों ने कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई की है। जहां वसीम ने एमसीए की पढ़ाई की है वहीं नईम ने भी बीसीए की डिग्री ली है। एटीएस टीम के अनुसार, ‘दोनों स्क्रैप बिजनस से जुड़े थे। भाइयों की गिरफ्तारी से उनके परिवार के सदस्य सदमे की हालत में हैं।’ एटीएस एसपी हिमांशू शुक्ला ने बताया, ‘वसीम और नईम रामपुर यूपी के आईएस संदिग्ध मुफ्ती अब्बास शमी कासमी से संपर्क में थे। कासमी को पिछले साल ही राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने गिरफ्तार किया है।’

बीजेपी बनी आईएसआई सर्टिफाइड पार्टी

खबरों के अनुसार गुजरात एटीएस ने इनमें से एक को राजकोट और दूसरे को भावनगर से गिरफ्तार किया है।

कानपुर ट्रेन हादसे के पीछे आईएसआई लिंक

वसीम और नाईम नाम के यह दोनों संदिग्ध काफी समय से किसी धार्मिक स्थल पर हमले की कोशिश में थे लेकिन कड़ी सुरक्षा के चलते सफल नहीं हो पा रहे थे।

भारतीय मुस्लिम आईएस के खिलाफ हैं- राजनाथ सिंह

जानकारी के अनुसार दोनों अच्छे पढ़े लिखे हैं और कम्प्यूटर के जानकार हैं। पूछताछ में पता लगा है कि यह दोनों पिछले दो सालों से आईएस के हैंडलर्स के संपर्क में थे।

आईएस ने दी औवेसी को धमकी

क्राइम ब्रांच के संयुक्त कमिश्नर आईके भट्ट ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि एटीएस ने संदिग्धों के गिरफ्तार किया है। यह लोग लोन वुल्फ अटैक की तैयारी में थे। फिलहाल पुलिस इनसे पूछताछ कर रही है ताकि और कुछ जानकारी मिल सके।

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com