मुंबई: मशहूर फिल्म अभिनेता naseeruddin shah नसीरुद्दीन शाह के भीड़ की हिंसा को लेकर दिए बयान पर उन्हें रिचा चड्ढा और स्वरा भास्कर का समर्थन मिला है। दोनों अभिनेत्रियों ने शाह के बयान की आलोचना करने वालों को भी आड़े हाथों लिया है। शाह के भारत में भीड़ की हिंसा और कट्टरता बढ़ने को लेकर दिए बयान के बाद कुछ संगठनों और राजनीतिक पार्टियों ने उनकी आलोचना की है। शाह ने कहा था कि भीड़ जिस तरह से देश में बेकाबू हो रही है, उसे देखते हुए अपने बच्चों की सुरक्षा के बारे में सोचकर उन्हें डर लगता है।

नसीरुद्दीन शाह के इंटरव्यू के वीडियो को पोस्ट करते हुए अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने कहा है, ‘हमारा घर है, कौन निकाल सकता है हमें यहां से, आपको बहुत सारा हौंसला नसीर सर।’ वहीं रिचा चड्ढा ने चित्रा सुब्रमण्यम के उस ट्वीट पर उनको फटकार लगाई जिसमें उन्होंने शाह के कमेंट को पब्लिसिटी पाने की कोशिश कहा है। रिचा ने कहा कि दुनिया के सबसे शानदार एक्टरों में शामिल शाह को किसी पब्लिसिटी की जरूरत नहीं है। वो क्या बोलेंगे, कोई और उन्हें ये नहीं बताएगा क्या उनको बोलने से पहले स्क्रिप्ट दी जाएगी। वहीं टीवी जर्नलिस्ट सगारिका घोष ने कहा है कि जिस शख्स ने सिनेमा इतना कुछ दिया है, वो अगर अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर परेशान है तो ये हमारे लिए शर्म की बात है।

अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि कई जगहों पर एक गाय की मौत को एक पुलिस अधिकारी की हत्या से ज्यादा तवज्जो दी गई। जहर फैलाया जा चुका है और अब इसे रोक पाना मुश्किल होगा। इस जिन्न को वापस बोतल में बंद करना मुश्किल होगा। कानून को अपने हाथों में ले रहे हैं, उन्हें खुली छूट दे दे गई है। आज बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंता होती है। नसीरुद्दीन शाह ने ‘कारवां-ए-मोहब्बत इंडिया’ को ये इंटरव्यू दिया है जो सोमवार को यूट्यूब चैनल पर पोस्ट किया गया।

अभिनेता नसीरुद्दीन शाह के बयान को कई दक्षिणपंथी संगठनों ने बिल्किल गलत और देश का अपमान करने वाला कहा है। कुछ लोगों ने उनके लिए ‘गद्दार’ जैसे शब्दों का भी इस्तेमाल किया है। विरोध पर शाह ने कहा है कि मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा कि मुझे गद्दार कहा जाए। जो कुछ कहा वो एक चिंतित भारतीय के तौर पर कहा। ऐसा मैंने क्या कह दिया कि मुझे गद्दार कहा जा रहा है।