Home > Crime > टीचर से गैंगरेप, विडियो बनाने का मामला फर्जी !

टीचर से गैंगरेप, विडियो बनाने का मामला फर्जी !

DEMO-PIC

DEMO-PIC

बरेली- उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के हाईवे पर मां बेटी के साथ हुए में सामूहिक बलात्कार की दहला देने वाली घटना के बाद मंगलवार को बरेली जिले में एक टीचर को अगवा कर उसके साथ बलात्कार किए जाने की खबर आई थी । इस खबर से पूरे पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। लेकिन पुलिस ने तेजी दिखाते हुए एक दिन में ही मामले का खुलासा करते हुए दावा किया है कि मामला बलात्कार का नहीं बल्कि प्रेम प्रसंग का था।

बता दें कि मंगलवार को बरेली जिले में दिल्ली-लखनऊ नेशनल हाइवे 24 को जाने वाले एक राजकीय मार्ग के किनारे स्थित खेत में एक टीचर को अगवा करके बलात्कार किए जाने की खबर सामने आई थी। एक युवती ने पुलिस के सामने दावा किया था कि तीन लोगों ने उसे बलपूर्वक एक कार में बैठा लिया और उसे स्टेट हाइवे के किनारे स्थित एक गन्ने के खेत में ले जाकर उसके सामूहिक बलात्कार किया।

पीड़ित टीचर के अनुसार बलात्कार की वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी उसे बदहवास हालत में सीबी गंज थाना अंतर्गत खडुआ रोड के पास एक खेत में फेंककर भाग गए। किसी तरह से युवती अपने घर पहुंची और उसके बाद पुलिस को शिकायत दर्ज कराई थी।

युवती का आरोप था कि बलात्कार के दौरान उसकी वीडियो भी बनाई गई है। पुलिस ने युवती की शिकायत पर बिना देर किए तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। बुलंदशहर गैंगरेप के बाद हर तरफ से ताने सुन रही पुलिस ने इस मामले में तेजी दिखाई। और मामले की छानबीन शुरु कर दी गई।

पुलिस ने शिकायत के फौरन बाद युवती को मेडिकल के लिए भेजा। घटना की सूचना मिलते ही आईजी, डीआईजी, एसएसपी, एसपी सिटी और एसपी (अपराध) के नेतृत्व में पुलिस अधिकारियों की टीम घटनास्थल की तरफ रवाना हो गई। पुलिस ने पूरे इलाके में छानबीन की. घटना स्थल की तरफ जाने वाले रास्तों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगालना शुरु किया गया।

बरेली के एसपी सिटी समीर सौरभ ने फोन पर जुर्म आजतक को बताया कि विभाग ने बिना देर किए सीबीगंज थाने के इंस्पेक्टर राजेश सिंह के खिलाफ कार्रवाई की. उसके बाद पीड़िता के बारे में छानबीन की गई। उसके मोबाइल की सीडीआर और लोकेशन की जांच पड़ताल से पता चला कि लड़की के कहे मुताबिक उसकी लोकेशन घटना स्थल की थी।

जब पुलिस ने पीड़िता की कॉल डिटेल पर नजर डाली और गौर किया तो पता चला कि एक नंबर पर घटना से कुछ वक्त पहले ही उसकी बातचीत हुई थी। और उस नंबर पर काफी वक्त से युवती देर तक बातें किया करती थी। पुलिस ने उस नंबर की लोकेशन ट्रेस करने का फैसला किया।

एसपी समीर के अनुसार पुलिस को लोकेशन ट्रेस करने के बाद पता चला कि उस नंबर की लोकेशन भी वारदात के वक्त घटनास्थल की ही थी। यानी युवती के साथ उस नंबर को इस्तेमाल करने वाला भी वहीं मौजूद था। पुलिस नंबर इस्तेमाल करने वाले तक जा पहुंची. और बरेली के भोजीपुरा इलाके से 24 साल के अमित राठौर नामक युवक को हिरासत में ले लिया।

अमित से पूछताछ में पुलिस को पता चला कि उसका पीड़ित युवती के साथ पिछले कई माह से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों फोन पर घंटों बातें किया करते थे। घटना के दिन भी दोनों साथ में थे। मामला खुलता जा रहा था। पुलिस ने अमित से घटना के बारे में विस्तार से पूछताछ की।

उधर, पुलिस की एक टीम ने स्टेट हाइवे पर लगे कई सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को बार-बार देखा। लेकिन युवती के अनुसार बताई गई कोई कार उस रास्ते पर आती जाती नहीं दिखाई दी। पुलिस को अब युवती के बयान पर शक होने लगा था।

इधर, अमित ने पुलिस को बताया कि उन दोनों ने मिलने का प्रोग्राम बनाया था। वे दोनों एक थ्रीव्हीलर में सवार होकर नेशनल हाइवे से जुड़े स्टेट हाइवे पर स्थित एक खेत में गए थे। कुछ देर तक दोनों वहीं रुके थे. और सहमती के साथ दोनों के बीच शारीरिक संबंध भी बने थे। अमित के अनुसार पहले से दोनों के बीच शारीरिक संबंध थे।

एसपी समीर सौरभ के मुताबिक अमित के बयान के बाद युवती ने पुलिस के सामने स्वीकार किया कि वह अपनी मर्जी से अमित के साथ घटनास्थल पर गई थी लेकिन वहां अमित ने जबरन उसके साथ बलात्कार किया और उसकी वीडियो बनाई। पुलिस को पता चला कि खेत में समय बिताने के बाद दोनों एक साथ एक थ्रीव्हीलर से वापस आए थे। उसके बाद लड़की अपने घर चली गई थी जबकि अमित अपने रास्ते चला गया था।

मामला खुल जाने के बाद पुलिस ने लड़की को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया। जहां धारा 164 के तहत उसके बयान दर्ज किए जा रहे हैं। अमित को भी पुलिस ने अदालत में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। पुलिस के मुताबिक आगामी सितंबर माह में युवती की उम्र पूरे 20 साल हो जाएगी।




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com