दोनों देश तनाव खत्म कर शांति और विकास के बारे में सोचें -मलाला - Tez News
Home > Foregin > दोनों देश तनाव खत्म कर शांति और विकास के बारे में सोचें -मलाला

दोनों देश तनाव खत्म कर शांति और विकास के बारे में सोचें -मलाला

malalaलंदन [ TNN ] सबसे कम उम्र की नोबेल पुरस्कार विजेता पाकिस्तान की मलाला यूसुफजई (17) ने शुक्रवार को कहा कि वह रसायन विषय की कक्षा में थी जब उसकी टीचर ने बताया कि उसे शांति के लिए दिया जाने वाले सबसे बड़े पुरस्कार के लिए चुना गया है।

मलाला ने कहा कि उसे गर्व ही की इस पुरस्कार के लिए चुने जाने वाली वह पहली पाकिस्तानी है। बच्चों को यह पुरस्कार समर्पित करते हुए मलाला ने कहा कि दुनियाभर के बच्चों के लिए संदेश है की वे अपने अधिकारों के लिए आगे आएं। यह पुरस्कार उन बच्चों के लिए हैं जो अपने हक के लिए बोल नहीं पाते। मलाला ने कहा कि यह सिर्फ एक पुरस्कार ही नहीं, बल्कि इससे हौसलाअफजाई भी होती है। यह संदेश है की जो लड़ाई में लड़ रही हूं, उसमें लोग मेरा साथ दे रहे हैं।

मलाला को भारत के बाल अधिकार कार्यकर्ता कैलाश सत्यार्थी (60) के साथ वर्ष 2014 का शांति का नोबेल पुरस्कार दिया गया है। कैलाश के साथ नोबल पुरस्कार के लिए चुने जाने पर खुशी जाहिर करते हुए मलाला ने इच्छा जाहिर की कि वह उनके साथ भविष्य मे काम करना चाहती हैं।

मलाला ने कहा कि मैंने कैलाश से फोन पर बात की और हमने फैसला किया की बच्चों के अधिकारों के लिए हम मिलकर काम करेंगे। भारतीय के साथ नोबल पुरस्कार के लिए चुने जाने पर पाकिस्तानी किशोरी ने खुशी जाहिर की, लेकिन साथ ही इस बात पर दुख जाहिर किया की दोनो पड़ोसी देशों-भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध अच्छे नहीं चल रहे हैं।

मलाला ने कहा कि हमें पता है कि भारत-पाकिस्तान सीमा पर तनाव चल रहा है। यह निराशाजनक और दुख की बात है। मैं चाहती हूं की दोनों देश बात करें, शांति और विकास, शिक्षा एवं तरक्की के बारे में सोचें। दोनों देशों के संबंधों में सुधार की चाहत रखने वाली मलाला ने कहा कि उसकी इच्छा है कि दिसंबर मे होने वाले पुरस्कार समारोह मे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके समकक्ष नवाज शरीफ उसमें शामिल हों।

उल्लेखनीय है कि मलाला बालिका शिक्षा की समर्थक है, लेकिन कट्टरवादियों को यह रास नहीं आया था। इसी के चलते 2012 मे मिंगोरा शहर में तालिबान ने उसके सिर मे गोली मार दी थी। डॉक्टर बनने की चाहत रखने वाली मलाला ने कहा कि वह अब एक राजनेता बनना चाहती है। मलाला ने कहा कि मेरे सामने सिर्फ दो विकल्प थे-चुप रहो और मारे जाओ। बोलो और मारे जाओ। मैंने दूसरा विकल्प चुना।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com