Home > India News > श्रीनगर : अस्पताल में आतंकी हमला साथी को छुड़ा फरार

श्रीनगर : अस्पताल में आतंकी हमला साथी को छुड़ा फरार

आतंकवादियों ने एक पाकिस्तानी आतंकवादी को पुलिस हिरासत से छुड़ाने के लिए जम्मू कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी में एक अस्पताल के बाहर आज हमला किया जिसमें दो पुलिसकर्मी शहीद होने की खबर है

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि लश्कर के पाकिस्तानी आतंकवादी नवीद जट्ट को वर्ष 2014 में दक्षिण कश्मीर के कुलगाम से गिरफ्तार किया गया था। वह हमलावरों के साथ बच कर भागने में सफल रहा। 

पुलिस ने बताया कि आतंकवादियों ने शहर के काका सराय इलाके में अस्पताल के बाहर जट्ट उर्फ अबू हंजला को ले जा रहे पुलिस दल पर गोलीबारी की। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि एक पुलिसकर्मी शहीद हो गया जबकि एक अन्य अस्पताल में अपने जीवन के लिए संघर्ष कर रहा है।

उन्होंने कहा कि एक पुलिसकर्मी की कार्बाइन राइफल भी लापता बताई जा रही है। अधिकारी ने बताया कि इलाके को घेर लिया गया है और आतंकवादियों को पकड़ने के लिए तलाश शुरू कर दी गई है।

श्रीनगर के महाराजा हरि सिंह अस्पताल में आतंकियों ने गिरफ्तार किए गए पाकिस्तानी आतंकी नावेद को छुड़ाने के लिए मंगलवार की सुबह हमला कर दिया। हमले में एक पुलिस का जवान शहीद हो गया, जबकि एक अन्य घायल हो गया। इस बीच, नावेद भी पुलिस की गिरफ्त से भागने में सफल रहा। सुरक्षाबलों ने पूरे क्षेत्र को घेर तलाशी अभियान चलाया है। घटना सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे की है।

जानकारी के मुताबिक, कुछ पुलिस के जवान सेंट्रल जेल से छह कैदियों को जांच के लिए एसएमएचएस अस्पताल की इमरजेंसी में लाए थे। इनमें दो आतंकी भी शामिल थे। अचानक गोलियां चलने की आवाज हुई, जिसमें दो पुलिसकर्मी घायल हो गए। इस दौरान एक की अस्पताल में मौत हो गई।

साल 2015 में पुलिस ने लश्कर के आतंकी नावेद उर्फ अबु हंजुला को हिरासत में लिया था। मंगलवार को पुलिस उसे जांच के लिए लाई थी। वहां पर पहले से ही दो से तीन आतंकी छुपे हुए थे, जो कि उसे छुड़ाने के लिए आए हुए थे। उन्होंने पुलिस कर्मियों पर गोलीबारी शुरू कर दी। वहीं, नावेद ने पुलिस कर्मी से ही उसकी राइफल छीन ली और गोली चलाकर भाग गया। जब तक पुलिस संभल पाती, गिरफ्तार आतंकी नावेद और हमलावर आतंकी वहां से भाग गए।

वहीं, सुरक्षाबलों ने पूरे अस्पताल को घेरे में ले लिया है और तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। पुलिस को शक है कि फरार आतंकी इसी क्षेत्र में हो सकते हैं।

पुलिस अधिकारियों के अनुसार, फरार नावेद लश्कर के वसीम गुट का है और 2014 के चुनावों में नागबल में उसने एक शिक्षक की हत्या भी की थी। उसने एक एएसआई की भी हत्या की थी। वह अन्य कई हमलों में भी शामिल था।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com