गाजियाबाद : लोहिया नगर स्थित शिवशक्ति मंदिर के पुजारी की हत्या का पुलिस ने शनिवार को खुलासा किया। पुलिस के अनुसार, शास्त्री नगर स्थित एक मंदिर के पुजारी ने अपने साथी के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया। यह हत्या अवैध संबंधों के चलते की गई।

पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर पुजारी की मोपेड और जूते भी देहरा झाल के पास से बरामद किया है। पुलिस अब उसके साथी की तलाश कर रही है।

क्या है मामला

लोहिया नगर स्थित शिव शक्ति मंदिर के पुजारी हरवंश राय 28 अगस्त को किसी काम से गोविंदपुरम गए थे। वह देर रात तक नहीं लौटे, तो उनके बेटे अमलेश ने सिहानी गेट थाने में अपहरण की आशंका जताते हुए रिपोर्ट दर्ज करवाई थी।

इंस्पेक्टर सिहानी गेट संजय पांडे ने बताया कि इस मामले में सर्विलांस के जरिए कुछ अहम सुराग मिले थे। इस आधार पर हरसांव में रहने वाले उपेंद्र को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में उसने अपने साथी के साथ मिलकर हरवंश राय को धोखे से बुलाकर उसकी हत्या करने की बात स्वीकार की।

उपेंद्र ने पुलिस को बताया कि उसकी बुआ की बेटी के साथ हरवंश के अवैध संबंध थे। उपेंद्र को इस बात का पता बहन का मोबाइल चेक करने से लगा। मोबाइल में उसकी बहन और हरवंश राय के बीच कुछ अश्लील बातचीत रिकॉर्ड थी। इसके बाद उसने उसकी हत्या की योजना बनाई।

उपेंद्र खुद शास्त्री नगर स्थित एक मंदिर में पुजारी है। उसने अपने साथी धीरज को इस वारदात में शामिल किया और पूजा के बहाने हरवंश को गोविंदपुरम बुलाया। वहां से उसे अगवा करके दोनों देहरा झाल ले गए और उसकी हत्या करके शव को नहर में फेंक दिया। हरवंश का शव बुलंदशहर की ककोड़ झाल में शुक्रवार को मिला था।