Home > Business > शेयर बाजार में तेजी के बाद आई फिर से तेज गिरावट

शेयर बाजार में तेजी के बाद आई फिर से तेज गिरावट

stock-market-down

शेयर बाजार में एक दिन की तेजी के बाद, फिर से तेज गिरावट आई है। 8 अक्टूबर 2014 के बाद निफ्टी पहली बार 8000 के नीचे बंद हुआ है। वहीं, सेंसेक्स 26,500 के नीचे क्लोज हुआ है। आज के कारोबार में सभी सेक्टर इंडेक्स गिरावट के साथ बंद हुए है। अंत में बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 469.5 अंक यानि 1.75 फीसदी की गिरावट के साथ 26371 के स्तर पर बंद हुआ है। वहीं एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 159 अंक यानि 2 फीसदी की कमजोरी के साथ 7965.35 के स्तर पर बंद हुआ है।

मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों की भी जमकर पिटाई हुई है। सीएनएक्स मिडकैप इंडेक्स 1.7 फीसदी गिरकर 12402.15 के स्तर पर बंद हुआ है, जबकि आज ये इंडेक्स 12700 के पार निकल गया था। वहीं बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स भी 1.5 फीसदी कमजोर होकर 10612.2 पर बंद हुआ है। बीएसई के सभी सेक्टर इंडेक्स लाल निशान में ही बंद हुए हैं। बैंकिंग, ऑटो, पावर, रियल्टी और कंज्यूमर ड्युरेबल्स शेयरों की सबसे ज्यादा पिटाई हुई है। बीएसई के ऑटो, पावर, रियल्टी और कंज्यूमर ड्युरेबल्स इंडेक्स में 2.4-2 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की गई है। वहीं बैंक निफ्टी 2.3 फीसदी गिरकर 17304.4.4 के स्तर पर बंद हुआ है, जबकि आज ये 17820 के ऊपर तक पहुंचने में कामयाब हुआ था।

निफ्टी के 50 में से 46 शेयर लाल निशान में बंद हुए हैं, तो 2 शेयर बिल्कुल सपाट रहे। वहीं सेंसेक्स के 30 में से 29 शेयर लाल निशान में बंद हुए हैं। आज के कारोबारी सत्र में टाटा पावर, आइडिया सेल्यूलर, एशियन पेंट्स, कोटक महिंद्रा बैंक, बॉश, टाटा मोटर्स, बीचएचईएल, रिलायंस इंडस्ट्रीज और एक्सिस बैंक जैसे दिग्गज शेयर 5.2-3.1 फीसदी तक टूटकर बंद हुए हैं। हालांकि दिग्गज शेयरों में वेदांता 1.6 फीसदी और टेक महिंद्रा 0.25 फीसदी तक बढ़कर बंद हुए हैं। मिडकैप शेयरों में सिम्फनी, एडवांटा, सेंचुरी प्लाय, हेक्सावेयर टेक और एबीजी शिपयार्ड सबसे ज्यादा 6.4-5.75 फीसदी तक गिरकर बंद हुए हैं। स्मॉलकैप शेयरों में पोन्नि शुगर्स, भूषण स्टील, आईएफबी इंडस्ट्रीज, एचसीसी और अटलांटा सबसे ज्यादा 10.5-8.8 फीसदी तक टूटकर बंद हुए हैं।

जानकारों का कहना है कि कल बाजार में तेजी शॉर्टकवरिंग के चलते आई थी। लेकिन एफआईआई निवेशकों की लगातार बिकवाली बढ़ने से बाजार में चिंता बढ़ी है, ऐसे में आगे और गिरावट देखने को मिल सकती है। निफ्टी के 7800 तक फिसलने की आशंका है। साथ ही मिडकैप शेयरों में तेज गिरावट आ सकती है।

के आर चोकसी सिक्योरिटीज के देवेन चोकसी के मुताबिक बाजार में खरीदारी के अभाव के कारण गिरावट आ रही है। कैश मार्केट में संस्थागत निवेशक भी बिकवाली कर रहे हैं जो कमजोरी बढ़ा रहा है। बाजार में अभी कुछ और समय गिरावट जारी रह सकती है। हालांकि ये समय खरीदारी करने का है क्योंकि कई अच्छे शेयर सस्ते भाव पर मिल रहे हैं। 8000 के स्तर तोड़ने पर बाजार में और कमजोरी बढ़ेगी लेकिन 7800 के स्तर पर बाजार स्थिर हो सकते हैं। इस समय हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों और एनबीएफसी में निवेश कर सकते हैं और पीएसयू बैंक में बड़े बैंक में खरीदारी कर सकते हैं। ऑटो सेक्टर में कमर्शियल व्हीकल सेगमेंट में पैसा लगाने का मौका है।

प्रभुदास लीलाधर के ज्वाइंट एमडी दिलीप भट्ट का कहना है कि बाजार अगर इतना गिर रहा है तो इसमें थोड़ी खरीदारी करने का अवसर है। लंबी अवधि में निफ्टी मौजूदा भाव से 15-20 फीसदी तेजी दिखा सकता है तो अभी निवेश कर लेना चाहिए। हालांकि अभी बाजार में 200 अंकों की और गिरावट से आश्चर्य नहीं होगा लेकिन 7500 तक नीचे जाने की संभावना नहीं लग रही है। छोटी अवधि के ट्रेडर्स बाजार से दूर रह सकते हैं लेकिन लंबी अवधि के लिए खरीदारी कर सकते हैं। छोटी अवधि के ट्रेडर्स को 1 महीना या 15 दिन बाजार से दूर रहना चाहिए और उसके बाद खरीदारी करनी चाहिए। मिडकैप शेयरों में आगे और दबाव बढ़ सकता है तो इस समय इनसे दूर रहना ही ठीक रहेगा।

मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी बिकवाली बढ़ गई है। सीएनएक्स मिडकैप इंडेक्स 1 फीसदी गिरकर 12500 के नीचे आ गया है, जबकि आज ये इंडेक्स 12700 के पार निकल गया था। वहीं बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स भी करीब 1 फीसदी कमजोर होकर 10700 के नीचे आ गया है। बीएसई के सभी सेक्टर इंडेक्स लाल निशान में ही नजर आ रहे हैं। बैंकिंग, ऑटो, पावर, कंज्यूमर ड्युरेबल्स और आईटी शेयरों की सबसे ज्यादा पिटाई हो रही है। बैंक निफ्टी करीब 1.6 फीसदी गिरकर 17400 के करीब आ गया है, जबकि आज ये 17820 के ऊपर तक पहुंचने में कामयाब हुआ था। बीएसई के ऑटो, पावर, कंज्यूमर ड्युरेबल्स और आईटी इंडेक्स में 1.5-1 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की गई है।

बाजार में कारोबार के इस दौरान एशियन पेंट्स, टाटा मोटर्स, ल्यूपिन, आइडिया सेल्यूलर, रिलायंस इंडस्ट्रीज, बीचएचईएल, विप्रो और एसबीआई जैसे दिग्गज शेयरों में 3.5-2.1 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। हालांकि वेदांता, बीपीसीएल, एचयूएल, टेक महिंद्रा और सन फार्मा जैसे दिग्गज शेयरों में 2.1-0.5 फीसदी की तेजी देखने को मिल रही है। मिडकैप शेयरों में रिसा इंटरनेशनल, इंडिया सीमेंट, यूको बैंक, ईआईएल और आईआरबी इंफ्रा सबसे ज्यादा 5-3.9 फीसदी तक गिरे हैं। स्मॉलकैप शेयरों में पोन्नि शुगर्स, आईएफबी इंडस्ट्रीज, बीएस लिमिटेड, तलवलकर्स और रोलाटेनर्स सबसे ज्यादा 10.5-6.5 फीसदी तक टूटे हैं।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com