Home > India > यूपी: चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों का कच्चा चिठ्ठा

यूपी: चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों का कच्चा चिठ्ठा

लखनऊ: उत्तर प्रदेश इलेक्शन वॉच एवं एसोशिएसन फॉर डैमोक्रेटिक रिर्फोम्स ने प्रेस क्लब में यूपी चुनाव के तीसरे चरण में चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों का विशलेषण प्रस्तुत किया । संजय सिंह ने रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए बताया कि तीसरे चरण में चुनाव लड़ने वाले 826 प्रत्याशियों में से 13 उम्मीदवारों द्वारा भरे गये नामांकन पत्रों के आधार पर ये रिपोर्ट तैयार की गयी है । ये उम्मीदवार 105 राजनैतिक दलों का प्रतिनिधित्व कर रहे है । इनमे 6 राष्ट्रीय, 7 क्षेत्रीय, 92 गैर मान्यता प्राप्त दल और 225 निर्दलीय प्रत्याशी शामिल है । लखनऊ की 9 विधानसभा सीटों से 126 प्रत्याशी मैदान में उतरे है । तीसरे चरण के उम्मीदवारों में 14 प्रतिशत यानि कि 110 उम्मीदवार आपराधिक मामलों के है, 10 प्रतिशत यानि कि 82 उम्मीदवारों पर गंभीर आपराधिक मामले है, 31 प्रतिशत यानि कि 250 प्रत्याशी करोड़पति है और कुल उम्मीदवारों के पास कुल 1.61 करोड़ की औसत सम्पत्ति है। इनमे से 7 उम्मीदवारों ने अपने ऊपर धारा 302 से सम्बम्धित मामले घोषित किये है और 11 उम्मीदवारों ने अपने ऊपर धारा 307 के मामलों की घोषणा की है ।

इनमे महिलाओं पर अत्याचार से सम्बम्धित मामलों की घोषणा करने वाले 6 उम्मीदवार है, अपहरण के मामले से सम्बम्धित 5 उम्मीदवार शामिल है । उम्मीदवारों द्वारा घोषित आपराधिक मामलों की दलगत स्थिति पर नजर ड़ालने से बीजेपी के 31 प्रतिशत यानि कि 68 में से 21 उम्मीदवार, बीएसपी के 31 प्रतिशत यानि कि 67 में से 21 उम्मीदवार, रालोद के 13 प्रतिशत यानि कि 40 में से 5 उम्मीदवार, सपा के 22 प्रतिशत यानि कि 59 में से 12 उम्मीदवार, कांग्रेस के 36 प्रतिशत यानि कि 14 में से 5 उम्मीदवार और निर्दलीय उम्मीदवारों में से 6 प्रतिशत यानि कि 225 में से 13 उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामलों की घोषणा की है । संवेदनशील क्षेत्रों की बात बतातें हुए संजय ने कहा कि तीसरे चरण में 21 निर्वाचन क्षेत्र ऐसे है जहॉ राजनैतिक दलों के कम से कम 3 उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामलों की घोषणा की है ।

143 पृष्ठों की विस्तृत रिपोर्ट जारी करते हुए रश्मि ने कहा कि तीसरे चरण में 31 प्रतिशत करोड़पति उम्मीदवार है जिनमे से सबसे अधिक बीजेपी के 68 में से 61 उम्मीदवार यानि कि 90 प्रतिशत उम्मीदवार करोड़पति है । तीन करोड़पति उम्मीदवारों को क्रम देते हुए रश्मि ने बताया कि पहले नम्बर पर सपा के महोली से उम्मीदवार अनूप कुमार गुप्ता है जिनके पास कुल 42 करोड़ रुपये से ज्यादा की सम्पत्ति है, दूसरे स्थान पर किदवई नगर, कानपुर से कांग्रेस से चुनाव लड़ रहे अजय कपूर है जिनके पास कुल 31 करोड़ रुपये और तीसरे नम्बर पर कानपुर देहात के सिकन्दरा से सपा की प्रत्याशी सीमा सचान है जिनके पास 29 करोड़ रुपये कीमत की चल व अचल सम्पत्ति है । दो उम्मीदवारों ने शून्य सम्पत्ति की घोषणा की है तो अधिकतम देनदारी वाले प्रत्याशियों में लखनऊ कैण्ट से चुनाव लड़ रही समाजवादी बहु अपर्णा यादव तीसरे नम्बर पर है । तीसरे चरण में 26 प्रतिशत उम्मीदवारों ने पैन विवरण नहीं दिया है और 5 प्रत्याशियों ने वार्षिक आय 1 करोड़ रुपये घोषित की है । सबसे अधिक आयकर देने में अपर्णा यादव का सबसे ऊपर है इन्होंनें वर्ष 2015-16 में स्वयं की वार्षिक आय 50 लाख रुपये तथा पति पत्नी की संयुक्त आय 1.97 करोड़ से अधिक बतातें हुए आयकर जमा किया है । तीसरे चरण में 52 प्रतिशत यानि कि 813 में से 424 उम्मीदवारों ने अपने आयकर जमा करवाने का विवरण उपलब्ध नहीं कराया है । लखनऊ की सरोजनी नगर सीट से निर्दलीय प्रत्याशी रुद्रदमन सिंह बबलू ने कुल सम्पत्ति 16.42 करोड़ रुपये बतातें हुए आयकर जमा करवाने का विवरण नहीं दिया है ।

संजय ने बताया कि तीसरे चरण के चुनाव में 12 प्रतिशत यानि कि 96 महिलाएं चुनाव लड़ रही है और 51 प्रतिशत यानि कि 418 उम्मीदवार स्नातक, 39 प्रतिशत यानि कि 320 प्रत्याशियों की शिक्षा कक्षा पॉच से बारहवीं तक तथा 43 उम्मीदवार साक्षर और 10 उम्मीदवारों ने असाक्षर होने की जानकारी दी है । आयु के मामले में 68 प्रतिशत यानि कि 551 प्रत्याशी 25-50 वर्ष की आयु के, 31 प्रतिशत यानि कि 254 उम्मीदवार 51-80 वर्ष के, एक उम्मीदवार 25 वर्ष से कम और एक उम्मीदवार ने अपनी आयु 80 वर्ष से ऊपर घोषित की है । संवेदनशील क्षेत्रों में पहले स्थान पर बांगरमऊ – उन्नाव, दूसरे पर पुरवा – उन्नाव, तीसरे पर लखनऊ पश्चिम और चौथे स्थान पर राम नगर बाराबंकी शामिल है ।

एडीआर और इलेक्शन वॉच द्वारा जारी तीनों चरणों की रिपोर्ट पर नज़र ड़ाले तो अब तक कुल 2386 प्रत्याशी चुनाव मैदान में है जिसमें से इन्होंनें 2368 प्रत्याशियों का ब्यौरा जारी कर दिया है । इनमे 16 प्रतिशत पर आपराधिक और 13 प्रतिशत पर गंभीर आपराधिक मामले चल रहे है । तीनों चरणों को मिला कर 34 प्रतिशत यानि कि 808 करोड़पति प्रत्याशी है और एक किन्नर को मिला कर 10 प्रतिशत यानि कि 235 महिलाएं चुनाव लड़ रही है । तीनों चरणों में 36 अनपढ़ प्रत्याशी है और 5 प्रत्याशियों की आयु 80 वर्ष से ऊपर तथा मजे की बात ये कि 31 उम्मीदवारों ने अपनी आयु घोषित नहीं की है ।
यूपी तीसरे चरण में दलगत सम्पत्ति की बात करे तो बीजेपी के कुल 68 उम्मीदवारों की औसत सम्पत्ति 3.79 करोड़ रुपये है जो तालिका में पहले स्थान पर है ।
@ शाश्वत तिवारी






Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com