Home > Adult > सुहागरात से ठीक पहले दुल्हन के मन में होते हैं ये सवाल

सुहागरात से ठीक पहले दुल्हन के मन में होते हैं ये सवाल

Europe, Bulgaria, Stara Jagora, bridal market, deal, foreign, news, daughter, mother, father, husband, wifeआपकी शादी लव मैरिज हो या अरेंज, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन सुहागरात को लेकर घबराहट हर किसी के मन में होती है। आखिरकार यह आपकी शादी की पहली रात है जो अधिकतर लोगों की लाइफ में एक बार ही आती है। इसलिए खुद को तैयार कर लें क्योंकि आपको अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से इस बारे में कई एक्सपर्ट अडवाइस भी मिलेगी। बावजूद इसके एक नई नवेली दुल्हन के मन में सुहागरात से ठीक पहले कौन सी बातें चलती रहती हैं।

क्या मैं मोटी लग रही हूं?

कोई भी लड़की कितनी ही स्लिम-ट्रीम क्यों न हो एक बार आइने में खुद को देखकर यह जरूर सोचती है कि कहीं मैं इस ड्रेस में मोटी तो नहीं लग रही और बात जब आपकी शादी की हो तो एक्सट्रा कॉन्शस होना तो बनता है। लिहाजा वेडिंग नाइट से ठीक पहले भी नई नवेली दुल्हनों के मन में अक्सर यह बात आती है कि कहीं मैं अपने इस वेडिंग ड्रेस में मोटी तो नहीं लग रही हूं।

क्या सबकुछ फिल्मों जैसा होगा?

बॉलिवुड मसाला फिल्मों में शादी और सुहागरात को लेकर जो मापदण्ड तय कर दिए गए हैं उसे देखते हुए लड़कियां भी अक्सर यही सोचती हैं क्या उनकी सुहागरात भी फिल्मों जैसी होगी। क्या मुझे भी घूंघट कर बेड पर बैठना चाहिए और मेरा पति आकर मेरा घूंघट उठाएगा? क्या मेरा बिस्तर भी वैसा ही सजा होगा जैसा फिल्मों में दिखाते हैं। सफेद चादर और लाल गुलाब की पंखुड़ियों से सजा हुआ?

दूध के गिलास का कॉन्सेप्ट

फिल्मों को देखकर एक और सवाल जो नई दुल्हन के मन में अक्सर उठता है वह यह है कि क्या सच में मुझे भी दूध का गिलास लेकर कमरे में जाना होगा और अगर मैं दूध लेकर गई भी तो उसे रखूंगी कहां?

इतने सारे कपड़े और गहने

शादी का लहंगा, गहने, जूड़े में लगी इतनी सारी हेयरपिन्स…मैं यह सब अकेले निकालूंगी कैसे? मुझे तो लगता है कि बालों में लगी हेयरपिन्स निकालने में ही पूरी रात निकल जाएगी।

उसे मेरी तैयारियां पसंद आए!

मैं उम्मीद करती हूं कि उसे मेरी ब्लैक लॉन्जरी पसंद आए जो मैंने खासतौर पर इस मौके के लिए ही खरीदी थी। लेकिन एक मिनट क्या मुझे लाल वाली लॉन्जरी पहननी चाहिए थी या ये ठीक लग रही है? बहुत कन्फ्यूजन है!

क्या वह कॉन्डम यूज करेगा?

ये सारी चीजें कैसे शुरू होंगी? क्या वह कॉन्डम यूज करेगा? मैं उम्मीद करती हूं कि वह बिना कॉन्डम यूज करे यह सब न करे! सेक्स के बारे में मुझे ज्यादा पता नहीं। क्या यह बहुत तकलीफदेह होगा? क्या मुझे बहुत दर्द होगा? क्या उसे पता है कि क्या-कैसे करना है?

अगर मेरा मूड नहीं हुआ तो

क्या मुझे आज रात के लिए कोई बहाना बना देना चाहिए? अगर मैं बहुत थकी हुई रही और मेरा मूड नहीं हुआ तो क्या वह मेरे इस व्यवहार से नाराज हो जाएगा?

कैसी रही तुम्हारी रात?

क्या अगले दिन सुबह सभी लोग मुझसे यही सवाल पूछेंगे कि कैसी रही तुम्हारी रात? अगर हां तो मैंने उन्हें क्या जवाब दूंगी? क्या मुझे उन्हें सब बता देना चाहिए या सबकुछ छिपा लेना चाहिए? कहीं घर के बड़े-बुजुर्ग मुझे देखते ही अपने आने वाले पोते-पोतियों के बारे में तो नहीं सोचने लगेंगे?

सुहागरात की प्लानिंग
ना करें जल्दबाजी
याद रखिए सुहागरात में कोई ऐसी नादानी न करें जिसकी टीस जीवनभर आपके दांपत्य जीवन में बनी रहे। कुछ ऐसा करें कि आपकी सुहागरात यादगार बने। इस मौके पर जल्‍दबाजी आपके लिए अच्‍छी नहीं। सेक्स क्रिया शुरू करने से पहले जरूरी है कि अपने साथी का भरोसा हासिल किया जाए। एक-दूसरे को बेहतर तरीके से समझा जाए। एक दूसरे के दिल की बातों को सुना जाए। अपने विचारों को साझा किया जाए।

खुलकर करें बात
जरूरी नही कि सुहागरात का मतलब केवल सेक्स है। इस रात की यादें जीवनभर के लिए होती हैं। इस रात को यादगार बनाने के लिए देर तक बातें कीजिए। बात करने से आप एक-दूसरे को समझेंगे और पति-पत्नी के बीच में समझ होना बहुत जरूरी है।

आजकल लड़के-लड़कियां दोनों ही नौकरीपेशा होते हैं और इसलिए उनके लिए उनकी महत्वाकांक्षाएं व लक्ष्य बहुत जरूरी होते हैं। ऐसे में शादी से पहले एक दूसरे के लिए समय न निकाल पाने की वजह से विवाह से जुड़े मुद्दों पर बात करने का मौका नहीं मिलता।

कम्यूनिकेट न करने की वजह से साथी को समझना मुश्किल लग सकता है। तो सुहागरात के दिन कुछ जरूरी मसलों पर साथी की बातें सुनना व अपनी बातें शेयर करना दोनों ही जरूरी हैं। शेयरिंग प्यार को बनाए रखती है और आपसी समझ व भावनात्मक रिश्ता भी बढ़ाती है। कम्यूनिकेशन के जरिए ही आप दोनों एक-दूसरे की परेशानियां व जरूरतें समझ सकेंगे। बेहतर होगा कि शेयरिंग और केयरिंग को ही रिश्ते का आधार बनाएं।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com