दलित युवक को बर्बरता से पीटा, गुप्तांग में डाला पेट्रोल, 5 आरोपी गिरफ्तार

राजस्थान के नागौर जिले के पांचौड़ी थाना क्षेत्र के करणू गांव में दबंगों द्वारा एक मोटरसाइकिल एंजेंसी में दलित युवक के साथ बर्बरता करने का मामला सामने आया है।

आरोप है कि युवक के साथ पहले मारपीट की गई और उसके बाद पीड़ि‍त के प्राइवेट पार्ट में पेट्रोल डाल दिया गया। गत रविवार को हुई इस घटना का वीडियो 19 फरवरी को सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। एसपी के निर्देश पर आनन-फानन में पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और मामले की जांच शुरू की।

नागौर के डीएसपी की मौजूदगी में दलित युवक की रिपोर्ट पर भींव सिंह, आईदान सिंह, आसू सिंह, सवाई सिंह, लक्ष्मण सिंह, हनुमान सिंह और गणपतराम के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। मामले में बुधवार देर रात में पुलिस ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में आरोपियो की हैवानियत नजर आ रही है। आरोपियों ने बर्बर तरीके से मारपीट की।

आरोपियों ने पहले युवक के साथ हाथापाई की और इसके बाद बेल्ट और तारों से पीटा। इतने से भी मन नहीं भरा तो आरोपियों ने बारी-बारी से पीटा और बीच-बीच में दलित युवक को पानी पिलाते रहे।

आखिर में एक आरोपी ने पेचकस में कपड़ा लपेटा और उसे पेट्रोल से भिगोकर युवक के प्राईवेट पार्ट में डाल दिया।

घटना के दौरान पीड़ित का चचेरा भाई भी उसके साथ था। आरोपियों ने उसे भी पीटा और एक तरफ बैठा दिया।

आरोपियों द्वारा की गई मारपीट के दौरान पीड़ित ने कई बार हाथ जोड़े और गुहार लगाई, चीख-चीख कर छोड़ने की बात कही, लेकिन आरोपियों ने उसकी नहीं सुनी। युवक के साथ लगातार मारपीट की जाती रही।

आखिर में जब पीड़ित की हालत बिगड़ी तो उसके पड़ोसियों को फोन किया और बाद में निकट के तांतवास अस्पताल ले जाकर प्राथमिक ईलाज कराया और घर छोड़ दिया।

वीडियो वायरल होने के बाद एसपी डॉ विकास पाठक ने मामले में तत्परता दिखाते हुए तत्काल टीमें गठित कीं और वीडियो के आधार पर पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। मामले में अन्य आरोपियों की पुलिस तलाश कर रही है।

पीड़ित ने रिपोर्ट में कहा कि वह करणू गांव में मोटरसाइकिल की एजेंसी पर अपनी बाइक की सर्विस कराने अपने चचेरे भाई के साथ गया था। वहां उस पर गल्ले से रुपए चोरी करने का आरोप लगाकर इस तरह की बर्बरता की गई।