Home > Entertainment > Bollywood > ये ‘क्लीन एडल्ट’ मूवी, कवर देखकर किताब जज न करें

ये ‘क्लीन एडल्ट’ मूवी, कवर देखकर किताब जज न करें

सेंसर बोर्ड से अलग होने के बाद पहली बार किसी बॉलीवुड फिल्म के साथ जुड़ने पर एक बार फिर पहलाज निहलानी खबरों में छा गए हैं। आगामी फिल्म जूली 2 को प्रेजेंट करने पर सेंसर बोर्ड के एक्स चीफ पहलाज निहलानी को संस्कारी से असंस्कारी कहा जा रहा है। पहलाज ने इस बोल्ड फिल्म को लेकर उन पर उठ रहे सवालों के जवाब दिए हैं।

जूली 2 फिल्म का टीजर जब से रिलीज हुआ है तभी से इसकी बोल्डनेस के चर्चे छाए हुए हैं। लेकिन जैसे ही पहलाज निहलानी की इस फिल्म के साथ जुड़े होने की खबरें मिली हैं तभी से सब हैरत में पड़ गए हैं कि आखि‍र सेंसर चीफ के पद पर रहते हुए फिल्मों की बोल्डनेस पर कैंची चलाने वाले आज खुद ही एक बोल्ड फिल्म का हिस्सा बन गए हैं। खुद पर असंस्कारी होने के आरोप को लेकर हाल ही में पहलाज निहलानी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया और जूली 2 के साथ जुड़ने को लेकर सफाई दी।

संस्कारी हूं और संस्कारी ही रहूंगा

पहलाज निहलानी ने कहा कि वह अब सेंसर बोर्ड के चीफ नहीं है इसलिए अब वह अपनी फिल्म जूली के लिए ए सर्टिफिकेट की मांग कर सकते हैं । उन्होंने कहा कि वह इस फिल्म को इसलिए डि‍स्ट्र‍ीब्यूट कर रहे हैं क्योंकि इस फिल्म में कोई भी बोल्ड सीन शामिल नहीं है। वह बोले, ‘मैं इस फिल्म के साथ इसकी कहानी को लेकर जुड़ा हूं। इस फिल्म की कहानी बहुत स्पेशल है। ये मेरे करियर की 50 वीं फिल्म है इसलिए मैं इस बात का पूरा ध्यान रखूंगा और ऐसी ही फिल्म के साथ काम करूंगा जो मेरे करियर को एक कदम आगे ले जाए।

पहलाज बोले, ‘मैं अगर सेंसर चीफ होता तो जूली 2 में कोई कट नहीं लगाता क्योंकि ये एक एडल्ट फिल्म है। चाहे इसे U/A या U सर्टिफिकेट मिले लेकिन मैं इसे एडल्ट फिल्म ही मानता हूं। मैं संस्कारी हूं, मेरा मकसद भी संस्कारी है और आगे भी संस्कारी ही रहूंगा।’ जूली 2 के बोल्ड पोस्टर को लेकर पहलाज ने साफ शब्दों में कहा कि सेंशुअस पोस्टर सिर्फ कर्मिशि‍यल मकसद से बनाया गया है, मैं यही कहना चाहूंगा कि कवर को देखकर किताब को जज ना करें। पहलाज ने इंडिया टुडे से बात करते हुए ये साफ कहा कि उनकी फिल्म को सेंसर बोर्ड से कोई कट्स नहीं मिलने वाले हैं और ना ही वह ट्रि‍ब्यूनल और रिवाइजिंग कमेटी में जाएंगे। उन्होंने कहा कि उनकी फिल्म को A सर्टिफिकेट मिलेगा। पहलाज बोले, ‘जो लोग सेंसर बोर्ड को फिल्मों की मार्केटिंग के लिए इस्तेमाल करते आए हैं वह उनमें से नहीं हैं।’

स्किन शो, शाहरुख और सलमान से नहीं कंटेट से चलती है फिल्में

संस्कारी से असंस्कारी होने के सवाल पर पहलाज ने कहा कि, मैंने अपने सेंसर बोर्ड के कार्यकाल में कोई भी ऐसी फिल्म पास नहीं कि जो कि फैमिली एक साथ बैठ के ना देख सके अगर ऐसी काेई फिल्म होगी तब आप मुझे असंस्कारी कहना। पहलाज ने साफतौर से कहा कि फिल्म के कंटेट की वजह से ही जूली 2 के साथ जुड़े हैं। पहलाज का मानना है कि फिल्म में कंटेंट हो तभी वो चलती है वह बोले, स्किन शो दिखा लो या सलमान या शाहरुख, फिल्म तभी चलेगी जब कंटेंट होगा।

बता दें कि उड़ता पंजाब, बाबुमोशाय बंदूकबाज सहित कई फिल्में हैं, जिन्हें पहलाज निहलानी ने अश्लील, हिंसा को बढ़ाने वालीं और समाज के लिए अनुचित बताकर इन फिल्मों के कई सीन्स में कट लगाए थे।

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com