तेज़ न्यूज़ के खुलासे के बाद यूपी सरकार की ये वेबसाइट हुई बंद

0
27

लखनऊ : यूपी के चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अंतर्गत गर्भधारण पूर्व और प्रसव पूर्व निदान तकनीक की वेबसाइट के हिंदी भाषा के संस्करण http://www.pyaribitiya.in/Index-hi.aspx का पेज खुलते ही सामने ही फोटो तो वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की लगी नजर आ रही है व नाम अखिलेश यादव माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश लिखा दिखाई पड़ रहा तेज़ न्यूज़ नेटवर्क पर खबर परकासित होते ही यूपी सरकार में मचा कोहराम। साइड बंद कर लिखा साइड अंडरकंट्रक्शन मैनेजमेंट। MARG SOLUTION नाम की कंपनी करती हैं साइड कामैनेजमेंट। आखिर ऐसा क्यों हुआ कोई बताने को तैयर नहीं कही ऐसे में बड़ा सवाल कोई साजिस तो नहीं ?

ये है पूरा मामला जिसे तेज़ न्यूज़ नेटवर्क ने किया उजागर

भाजपा की योगी सरकार भले ही आये दिन डिजिटल इण्डिया वडिजिटलाइजेशन की बात करती नजर आ रही है लेकिन ठीक इसके उलट शासन के अंतर्गत आने वाले विभागों की वेबसाइटों में आज भी पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को ही मुख्यमंत्री बताया जा रहा हैं। मजे की बात तो ये है कि फोटो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ही लगी हुई है पर नाम तो अखिलेश यादव का दर्ज है।

मार्च 2017 को उत्तर प्रदेश की जनता ने भारतीय जनता पार्टी को प्रचंड जनादेश देकर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेत्रृत्व में सरकार बनवाई थी। लेकिन योगी सरकार की एक वर्षगाँठ पूरी होने के बाद भी सरकारी विभागों की वेबसाइटों में मुख्यमंत्री के नाम का बदलाव नहीं हो सका।

हम बात कर रहे हैं चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अंतर्गत गर्भधारण पूर्व और प्रसव पूर्व निदान तकनीक की वेबसाइट www.pyaribitiya.in की जहां वेबसाईट खोलते ही अंग्रेजी संस्करण में योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश शासन का नाम व फोटो दिखाई पड़ता है व उसी के नीचे विभाग की मंत्री श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी की नाम के साथ फोटो दिखाई दे रहा है जबकि इसके ठीक उलट इसी वेबसाइट के हिंदी भाषा के संस्करण http://www.pyaribitiya.in/Index-hi.aspx का पेज खुलते ही सामने ही फोटो तो वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की लगी नजर आ रही है व नाम अखिलेश यादव माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश लिखा दिखाई पड़ रहा है एवं फोटो के ऊपर वेबसाईट में प्रमुख कार्यकर्ता भी लिखा हुआ है।

आखिरकार इतनी बड़ी चूक का जिम्मेदार कौन है ? इतना ही नहीं इसी वेबसाईट के सबसे अंत में नीचे की ओर साफ़ – साफ़ लिखा भी है कि इस वेबसाइट की सामग्री चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, उत्तर प्रदेश विभाग द्वारा प्रकाशित और प्रबंधित किया जाता है। इसे चूक माना जाए या जानबूझकर की गई साज़िस ?

ब्यूरो रिपोर्ट