Home > India News > वर्दी में गवाही देने आया तीन साल का मासूम, जाने क्या है वजह

वर्दी में गवाही देने आया तीन साल का मासूम, जाने क्या है वजह

खंडवा : मां की मौत के एक साल बाद गवाही देने की बारी आई तो तीन साल का मासूम पुलिस के खिलाफ मन में उपजे आक्रोश के चलते खाकी वर्दी पहनकर कोर्ट में सोमवार को पहुंचा। उसने पिता के साथ ही दादा-दादी, चाचा और बुआ के खिलाफ बयान दिए।

तीन वर्षीय हसन तिगाला मां सादिया की हत्या का मुख्य गवाह है। कोर्ट में वह नाना एमडी शाकिर, मामा जुनैद और अन्य परिजन के साथ पहुंचा।

दूसरी तरफ से आरोपित पिता प्याज और ट्रांसपोर्ट व्यवसायी मोइनुद्दीन तिगाला, दादा सलामुद्दीन, दादी खातून बी, चाचा इरशाद और बुआ मुन्नी बाई भी कोर्ट पहुंचे।

चतुर्थ अपर सत्र न्यायाधीश के यहां हसन पेश हुआ। कोर्ट में जाने से पहले हसन नाना और मामा के साथ ही खड़ा रहा। उसके चेहरे पर पिता और परिवार के लोगों को लेकर गुस्सा नजर आ रहा था।

हसन के न्यायाधीश के समक्ष जाते ही परिवार के लोगों को बाहर कर दिया गया। कोर्ट में दोनों पक्षों के अधिवक्ता मौजूद रहे। इसके बाद हसन की गवाही एक बंद कमरे में हुई। यहां केवल न्यायाधीश ही उसके साथ मौजूद रहे।

घटना के समय घर पर ही था बालक

हसन के कहने पर उसके मामा जुनैद ने पुलिस वर्दी लाकर दी। जुनैद ने बताया कि बहन सादिया की हत्या के दौरान हसन घर पर ही था। इस मामले में कार्रवाई को लेकर शुरुआत में पुलिस की भूमिका संदिग्ध रही।

घटना के दो दिन बाद हत्या का केस दर्ज किया गया। पुलिस के इस रवैए से हसन खफा था, इसलिए वह मां को न्याय दिलाने के लिए पुलिस वर्दी में कोर्ट पहुंचा। वह आरोपितों को सजा दिलाना चाहता है ताकि फिर कोई इस तरह से न कर सके।

यह है घटना

24 अप्रैल 2018 को रात करीब दो बजे सादिया पति मोइनुद्दीन तिगाला (23) का शव बाथरूम में मिला था। पूरी तरह से जलने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी।

सूचना पर कोतवाली पुलिस ने पहुंचकर कमरा सील कर दिया था। यहां सादिया के परिवार के लोगों ने जमकर हंगामा किया था।

उन्होंने पति सहित अन्य लोगों पर हत्या का आरोप लगाया था। नवविवाहिता की मौत का मामला होने से तीन डॉक्टरों की पैनल ने शव का पोस्टमार्टम किया।

इसके बाद 27 अप्रैल को कोतवाली में सादिया के पति मोइनुद्दीन तिगाला, ससुर सलामुद्दीन, सास खातून बी, जेठ इरशाद और ननद मुन्नी बाई पर हत्या का केस दर्ज हुआ था।

सादिया ने बेटी को दिया था जन्म

बड़वानी जिले के ग्राम अंजड़ निवासी सादिया की शादी 18 अप्रैल 2013 को मोइनुद्दीन तिगाला निवासी सोलह खोली क्षेत्र खंडवा से हुई थी।

शादी के बाद सादिया ने बेटे को जन्म दिया। बेटे के जन्म के बाद से सब ठीक चल रहा था। इसके बाद उसने बेटी को जन्म दिया था।

घटना के बाद पिता एमडी शाकिर ने आरोप लगाया था कि जब से सादिया ने बेटी को जन्म दिया, तबसे सास और ननद दोनों परेशान करने लगे थे।

ननद ने सादिया के साथ मारपीट की। उसे आए दिन प्रताड़ित किया जा रहा था। हसन और उसकी छोटी बहन नाना-नानी के पास अंजड़ में रह रहे हैं।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com