Home > India News > खुद को जिंदा साबित करने के लिए वृद्ध लगा रहा सरकारी दफ्तरों के चक्कर

खुद को जिंदा साबित करने के लिए वृद्ध लगा रहा सरकारी दफ्तरों के चक्कर

अमेठी:सोने से भी मंहगी हो रही जमीन को हड़पने के लिए लोग कुछ भी करने से नहीं डरते यहां तक कि जिंदा लोगो को मृतक दिखा जमीन की रजिस्ट्री कर ली जाती है।

अमेठी में जालसाजी के चलते एक महिला ने अपने जेठ को मृतक दिखाकर अपने जेठ की कीमती जमीन की वरासत करा ली वहीं, जमीन का असली हकदार जिंदा होने का प्रमाण लेकर अधिकारियों की चौखट के चक्कर लगा रहा है।

क्या है मामला-
मामला मुसाफिरखाना तहसील के विकासखण्ड शुकुलबाज़ार अन्तर्गत ग्राम पूरे भरोसी मजरे शेखपुर भंडारा का है यहां इदरीश लगभग (80 वर्ष) पुत्र याकूब रहते हैं इदरीश के पिता याकूब की मृत्यु सालो पहले हो गई थी इदरीश का आरोप है कि इनके छोटे भाई इलियास की पत्नी कमरून निशा ने इस जमीन को हथियाने के लिए अभिलेखी जालसाजी की और एक फर्जी मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाया इस मृत्यु प्रमाण पत्र में उसने अपने जेठ इदरीश को मृतक बताकर स्वयं को जमीन का वारिस बताया उसने तत्कालीन राजस्व निरीक्षक शुकुलबाज़ार से मिली भगत कर आवश्यक कूटरचित अभिलेख राजस्व विभाग में भी दाखिल कर दिए और विभागीय आदेश पर इदरीश पुत्र याकूब को मृतक बताकर 25 अक्तूबर 2011 को जमानी की वरासत करा ली वही दूसरी ओर इदरीश ने बताया कि वह लगभग 25 वर्षो से थाना शिवरतनगंज अन्तर्गत एक गाँव मे रहते है ।

स्वयं को जीवित बताते हुए दर दर भटक रहा पीड़ित-
मामले की जानकारी इदरीश पुत्र याकूब को तब हुई जब वह किसी काम के चलते खतौनी निकल वायी इदरीश अपने परिजनों के साथ तहसील पहुंचा और अभिलेखों की नकल ली तो जालसाजी के सहारे उसे मृत दर्शाकर वरासत कराए जाने की जानकारी हुई तब इदरीश पुत्र याकूब स्वयं के जीवित होने का प्रमाणपत्र और जमीनी अभिलेख लेकर अफसरों की चौखट पर भटक रहा है।

अधिकारी उवाच-
मामला संज्ञान में नही है मामले की जांचकर उचित कार्यवाही की जायेगी ।
उपजिलाधिकारी मुसाफिरखाना

रिपोर्ट@राम मिश्रा

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .