मंडला जिले की चौथी महिला कलेक्टर बनी प्रीति मैथिल - Tez News
Home > India News > मंडला जिले की चौथी महिला कलेक्टर बनी प्रीति मैथिल

मंडला जिले की चौथी महिला कलेक्टर बनी प्रीति मैथिल

मंडला : मंडला जिले की नवागत कलेक्टर श्रीमति प्रीति मैथिल ने कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी का पदभार ग्रहण किया है। इसके पहले वे नीमच में अपर कलेक्टर के पद पर पदस्थ थी। उन्होंने मंडला से रायसेन स्थानांतरित हुए कलेक्टर लोकेश जाटव का स्थान लिया। 2009 बैच की आईएएस अधिकारी श्रीमति प्रीति मैथिल बतौर कलेक्टर पहली बार मंडला से अपनी पारी शुरू की। श्रीमति प्रीति मैथिल मंडला की चौथी महिला कलेक्टर है।

Mandla district collector Preeti Maithilमंडला के जिला बनने के बाद वर्ष 1860 से जिले में कलेक्टर्स के बैठने का सिलसिला शुरू हुआ। 1860 के बाद से श्रीमति प्रीति मैथिल 98वीं कलेक्टर है, जबकि आजादी के बाद से 46वीं। 1860 में कैप्टन वैडिंग्टन मंडला के पहले कलेक्टर रहे है। 1860 से 1875 तक केवल अंग्रेज अधिकारी ही बतौर कलेक्टर पदस्थ रहे है। 1876 से अंग्रेज अधिकारियों के साथ – साथ भारतीय आईसीएस अधिकारी भी बतौर कलेक्टर काम करते रहे है।

आजादी के बाद 15 अगस्त 1947 से पदभार ग्रहण करने वाले पहले कलेक्टर एम डी सगने रहे है। जिले के इतिहास में श्रीमति प्रीति मैथिल के पहले और आजादी के बाद से केवल 3 महिला कलेक्टर को ही जिले की कमान मिली है। 1974 में श्रीमती शशि जैन करीब 4 माह तक मंडला की कलेक्टर रही है। उनके बाद 1989 में श्रीमति सुरंजना रे करीब 7 माह तक मंडला की कलेक्टर रही। जिले की तीसरी महिला कलेक्टर सुश्री स्वाति मीणा रही। 2012 में जिले की कमान संभालने वाली सुश्री स्वाति मीणा पूरे एक साल मंडला की कलेक्टर रही।

जिले की चौथी महिला कलेक्टर के रूप में पदभार ग्रहण करने वाली श्रीमति प्रीति मैथिल को लेकर उम्मीद जताई जा रही है कि वो लम्बी पारी खेलेगी और मंडला में महिला कलेक्टर्स के कम दिनों तक काम करने के मिथक को तोड़ेगी। इनके नेतृत्व में जिले के विकास को नई गति मिलेगी और वह तेजी के नए आयाम स्थापित करेगा। पदभार ग्रहण करने के बाद उन्होंने जिला योजना भवन में अधिकारियों की बैठक ली। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ जे विजय कुमार, अपर कलेक्टर एस एस बघेल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

ग्राम उदय से भारत उदय अभियान के अंतर्गत आयोजित की जाने वाली ग्राम सभाओं के पूर्व विभाग प्रमुख अपने मैदानी अमले को क्षेत्र में भ्रमण कराना सुनिश्चित करें ताकि पंचायतों की आवश्यकता के अनुरूप कार्य ग्राम विकास कार्ययोजना में सम्मिलित किये जा सकें। पहले से तैयार ग्राम विकास की योजना में कौन से कार्य हो चुके हैं उनके अतिरिक्त शेष कार्यों के साथ नये कार्यों को जोड़कर प्रत्येक ग्राम की सूक्ष्म कार्ययोजना तैयार कराई जाये। यह निर्देश कलेक्टर श्रीमति प्रीति मैथिल ने आज जिला योजना भवन में ग्राम उदय से भारत उदय अभियान की तैयारी की समीक्षा करते हुये दिये।

श्रीमति मैथिल ने कहा कि उद्यानिकी, कृषि एवं हितग्राहियों से जुडे अन्य विभाग प्रत्येक विकासखण्ड में अभियान के अंतर्गत एक दिन खाद्य प्रसंस्करण जैसे अन्य पद्वतियों का प्रदर्शन भी सुनिश्चित करें। उन्होंने अभियान के दौरान 24 अप्रैल को प्रधानमंत्री के उद्बोधन के प्रसारण हेतु प्रत्येक पंचायत में टीवी की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि पंचायतों में होने वाली ग्राम सभा एवं विभिन्न गतिविधियों की फोटोग्राफी एवं वीडियोग्राफी कराई जाये। इसी प्रकार जिला खेलकूद अधिकारी को निर्देशित किया गया कि वे जन अभियान परिषद से समन्वय स्थापित कर ग्रामों में एक दिन ग्रामीण खेलकूद प्रतियोगिता करायें।

कलेक्टर ने कहा कि अधिकारी ग्राम उदय से भारत उदय अभियान को पूर्ण गंभीरता से लें और अपने विभाग की कार्ययोजना समय सीमा में पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि उच्चाधिकारी के निर्देश देने एवं अधीनस्थ के निर्देशों का श्रवण करने से कार्य कभी सफल नहीं होते बल्कि कार्य पूर्ण करने के लिये बातचीत के माध्यम से समन्वय एवं कार्य सम्पन्नता की कठिनाईयों के निराकरण पश्चात ही सफलता प्राप्त हो सकती है। अधिकारी शासकीय कार्यों के सम्पादन में आने वाली समस्याओं के संबंध में स्पष्ट रूप से चर्चा करें और समय सीमा में कार्य सम्पादित करें। रिपोर्ट – सैय्यद जावेद अली

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com