शिवसेना को पटकने वाला कोई पैदा नहीं हुआ – उद्धव

0
15

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने रविवार को मुंबई में शिवसेना अधिवेशन को संबोधित किया। अपने भाषण की शुरुआत में ठाकरे ने कहा कि अभी तक शिवसेना को पटकने वाला कोई पैदा नहीं हुआ है और कोई ऐसा पैदा हो भी नहीं सकता।

उन्होंने कहा कि लहर किसी पार्टी की नहीं, ये भगवा लहर है। बता दें कि पिछले दिनों बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अमित शाह ने परोक्ष रूप से शिवसेना पर निशाना साधते हुए कहा था कि सहयोगी साथ दें तो अच्छा है नहीं तो लोकसभा चुनाव में सबको पटक देंगे। ठाकरे के इस बयान को शाह पर पलटवार के रूप में देखा जा रहा है।

उद्धव ने कहा कि 2019 के बाद का वक्त शिवसेना का होगा। उन्होंने कहा कि चुनाव में कौन जीतेगा, कौन हारेगा यह तो उसी वक्त पता चलेगा। उन्होंने कहा कि शिवसेना देश के सुधार की दिशा में सोचती है।

उन्होंने कहा, “मुझे मजबूत सरकार चाहिए, सरकार ऐसी चाहिए जो देश को मजबूत कर पाए। मोदी ने कहा था हमारी सरकार मजबूत है, विरोधी मजबूर सरकार बनाने में लगे हैं। इंदिरा गांधी की सरकार मजबूत थी।

उस सरकार ने पाकिस्तान के दो टुकड़े कर दिए थे। अटल जी ने कारगिल की लड़ाई जीत के दिखाई थी। उनको घेरने की बहुत कोशिश की गई थी।”

मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, “आज देश का क्या होगा किसी को उसकी चिंता नहीं। लोगों को सिर्फ चुनाव जीतने की चिंता है।

बीजेपी में विश्वास की कमी है इसीलिए वो डरे हुए हैं। जनता के मन मे आपका विश्वास रहना चाहिए। कोई बोलता है हनुमान मुसलमान थे, कोई दलित ये क्या चल रहा है?”

मंदिर वहीं बनाएंगे, लेकिन तारीख नहीं बताएंगे

ठाकरे ने कहा, “बीजेपी कहती है कि मंदिर वहीं बनाएंगे, मंदिर वहां था, वहां रहेगा लेकिन कभी दिखेगा नहीं। मतलब तारीख नही बताएंगे।

हमारा गठबंधन हिंदुत्व के मुद्दे पर हुआ था। हम उसी हिंदुत्व पर कायम हैं। नीतीश और राम विलास पासवान से राम मंदिर के बारे में पूछिये। इन लोगों ने राम मंदिर का विरोध किया था।”

ठाकरे ने आगे कहा, “अच्छे दिन आएंगे, राम मंदिर सब जुमला। बीजेपी के साथ जो पार्टियां हैं वो कभी राम मंदिर के पक्ष में नहीं रही और ऐसे लोगों के साथ सरकार आगे बढ़ रही है। मोदी को अवतार कहते हैं विष्णु का लेकिन ये राम मंदिर नहीं बना सकते। अब कहते हैं कि राम मंदिर कोर्ट का विषय है।”

मोदी के खिलाफ माहौल के जिम्मेदार सिर्फ मोदी

ठाकरे ने कहा कि आज मोदी के खिलाफ जो माहौल बना है वह इसलिए नहीं कि विपक्ष मजबूत है। बल्कि इसके जिम्मेदार सिर्फ मोदी हैं।

उन्होंने कहा, “अगर राम का नाम लेकर भी आप जुमला कर रहे हों तो फिर आपके सत्ता और आपके लिए भगवान राम की क्या अहमियत है? शिक्षित लोग भी काम करने से पहले मंदिर में जाते हैं। जनता को आज भी मंदिर और मूर्ति पर विश्वास है।”

पीएम मोदी पर हमला तेज करते हुए ठाकरे ने कहा, “जाति-पाति से देश की जनता को लुभा रहे हैं, चुनाव जाते ही भूल जाएंगे। मराठा आरक्षण का मुद्दा कोर्ट में है, कब फैसला होगा मुझे पता नहीं।

आर्थिक आधार पर सवर्ण को आरक्षण दिया है, लेकिन ये जुमला तो नहीं? अगर नहीं है तो ये बताओ कि नौकरियां कहां हैं?”

शिवसेना प्रमुख ने सवाल किया कि क्या 130 करोड़ के देश में कोई नहीं है जो प्रधानमंत्री को टक्कर दे सके? किसी के चुनाव में विकल्प होने का ज़रूरत नहीं है, लोग अपनी नाराजगी खुद बताते हैं।

उन्होंने कहा, “मोदी जी 8 लाख जिसका इनकम है उसका इनकम टैक्स माफ कर दो। 56 इंच का सीना हम आपका 256 इंच का मानने को तैयार हैं।”