Home > Latest News > मामा के राज्य में मनरेगा में लाखों रुपये का घोटाला

मामा के राज्य में मनरेगा में लाखों रुपये का घोटाला

अनूपपुर- अनूपपुर जिले के सेमरा ग्राम पंचायत में तालाब गहरीकरण के नाम पर करीब 20 लाख रुपये का घोटाला हुवा है। यह पूरी रकम मनरेगा योजना के तहत निकाली गयी है। शिकायत के बाद मामले की जांच जारी है। श्रम के बदले अनाज योजना से बने थे तालाब सेमरा ग्राम पंचायत में 14 तालाब है। इनमें से आधे से अधिक तालाब दो दशक पहले श्रम के बदले अनाज योजना के तहत बनाये गये थे। और शेष तालाब सैकड़ो वर्ष पूराने हैं। दो साल पहले मनरेगा योजना के तहत इन तालाबों के गहरीकरण और उपचार करने का गुपचुप निर्णय हुवा।

बिना काम के निकाले पैसे
इसके बाद बिना तालाब में काम कराये करीब 20 लाख रुपये पंचायत के खाते से निकाल लिये गये। गांव के सरपंच मुन्ना अगरिया का आरोप है। कि मामले की शिकायत करने पर अधिकारी उन्हें ही डांटते हैं। इस घोटाले के लिये ग्राम पंचायत सचिव राजकिशोर मिश्रा को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। जिसे सांसद और भाजपा नेताओं द्वारा सरंक्षण दिये जाने का आरोप है। ग्रामीणो की शिकायत के बाद मामले की जांच की जा रही है।

अधिकारियों का तर्क है कि ग्राम पंचायत में फूट को देखते हुवे इस मामले की गहरायी से जांच जरुरी है। भाजपा के बड़े बड़े दिग्गज नेताओं पर सचिव को संरछण का गंभीर आरोप ग्रामीणो ने लगाया है। जबकि इन ग्रामीणो का कहना है । की करोड़ों रुपये के घोटाले के आरोपी सचिव को आखिर इन नेताओं द्वारा संरछण क्यों दिया जा रहा है। कई सवाल खड़े करता है मनरेगा के नाम पर जहां करोड़ो रुपये की लूट हुयी है। ऐसे में 20 लाख रुपये का घोटाला कम नजर आता है। लेकिन अंदाजा लगाया जा सकता है, कि अगर एक गांव का यह हाल है तो पूरे जिले का क्या होगा।

मृतकों के नाम पर भी निकले पैसे
इस पूरे खेल में हद तो तब हो गई जब तालाब में मृतकों से काम कराने के नाम पर पैसे निकाल लिये जो कई सालों पहले ही ख़त्म हो चुके है ।

शिकायत करता चन्द्रभान मिश्रा का कहना है
शिकायत करता चन्द्रभान मिश्रा का कहना है की इस पूरे घोटाले में, घोटाले बाज सचिव को सांसद शहडोल और भाजपा जिला अध्यक्ष रामदास पुरी का संरछण प्राप्त है। जिसकी वजह से आरोपी सचिव के खिलाफ कार्यवाही नहीं हो पा रही है।

केव्हीएस चौधरी, सीईओ, जिलापंचायत
मुझे ग्रामीणो से इस पूरे मामले में शिकायत प्राप्त हुई है। जिसे गंभीरता से लेते हुए पूरे मामले की जाँच की जा रही है जाँच रिपोर्ट आते ही कार्यवाही की जायेगी।

रामदास पुरी, भाजपा जिला अध्यक्ष
भाजपा नेताओं पर आरोपी सचिव को संरक्षण दिये जाने के मामले में भाजपा जिला अध्यक्ष ने ​कहा कि वे और सांसद दोनो आदिवासी है। लिहाजा एैसे आरोप लगाये जा रहे हैं।

 रिपोर्ट :- विजय उरमलिया 

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .