Home > Crime > यूपी : वर्दी पर दाग, अपराधियों की मौज

यूपी : वर्दी पर दाग, अपराधियों की मौज


up-at-the-top-in-crimeअमेठी: अमेठी में कानून व्यवस्था को लेकर पुलिस की अक्सर किरकिरी होती रही है लूट, हत्या, डकैती, चोरी, बलात्कार जैसे संगीन अपराध रोक पाने में पुलिस फिसड्डी साबित हो रही है बेलगाम पुलिस सदैव कटघरे में नजर आती है बढ़ते अपराधो और कार्यशैली को लेकर पुलिस महकमा एक बार फिर चर्चा में है ।

ताजा मामला पीपरपुर थाना अंतर्गत नगरडीह गांव का है ग्रामीणों के अनुसार खेत की सिंचाई करने गयी नाबालिग बालिका के साथ बलात्कार के बाद आरोपियों ने पोल खुल जाने की वजह से जहर खिला दिया तबियत बिगड़ने पर बालिका को जिला अस्पताल भर्ती कराया गया जहाँ अपने बयान में बालिका ने अपने गाँव के ही कुछ व्यक्तियों पर बलात्कार के बाद जहर खिलाने का आरोप लगाया है लोगो की माने तो  खबर फैलने पर आक्रोशित ग्रामीणों ने आरोपी का घर घेर तोड़फोड़ करनी शुरू कर दी पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि पुलिस मामला संज्ञान में आने के बाद भी टाल मटोल करती रही क्यों कि आरोपी लोग रसूखदार घराने से सम्बन्ध रखते है सूचना पाकर मौके पर पहुची पुलिस ने जैसे तैसे हालात को काबू किया ।
अभी अमेठी पुलिस जामो में हुई युवती के साथ बलात्कार के मामले को लेकर जनता से आँखे छुपा ही रही थी कि पीपर पुर की इस घटना ने पुलिसया कार्य शैली पर फिर बड़ा सवाल खड़ा कर दिया ।
आखिर प्रश्न यह उठता है कि जब वी वी आई पी जनपद अमेठी में पुलिस अपराध रोकने में असफल है तो फिर बाहर अपराध कैसे रुकेगा  यह जगजाहिर है  इतनी बड़ी घटना की योजना बाहर बनी मगर पुलिस को भनक तक नहीं लगी अति सुरक्षित क्षेत्र में बलात्कार, लूट, भरी  हत्याएं यह बताती हैं कि अब जनता को अपनी सुरक्षा के खुद बंदोबस्त कर लेने चाहिए पुलिस के आलाधिकारी विभाग की छवि सुधारने के प्रति गंभीर होते तो इन घटनाओ से सबक लेकर अपनी कार्यशैली में बदलाव लाते लेकिन लगता है कि पुलिस महकमे ने आत्मालोचन करना बंद कर दिया है यदि सरकार अपनी किरकिरी होने से बचना चाहती है तो पुलिस तंत्र में अब अामूल-चूल बदलाव की आवश्यकता है सरकार को चाहिए कि भ्रष्ट और अयोग्य पुलिस अधिकारियो के खिलाफ सख्त रुख अख्तियार करे और स्वच्छ व ईमानदार अफसरों को काम करने की पूरी छूट दे.सरकार को खास लोगो को उनकी योग्यता परखे बगैर महत्वपूर्ण पदों पर तैनाती देने की कवायद पर भी पूरी तरह से रोक लगानी होगी।
बोले जिम्मेदार
जब इस मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक अमेठी संतोष कुमार से बात की गयी तो उन्होंने बताया पुलिस जांच में जुटी है पुलिस पर लगे आरोप निराधार है तथा तहरीर के आधार पर कार्यवाही की जायेगी ।
रिपोर्ट@राम मिश्रा अमेठी 






Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com