Home > India > मायावती बोलीं- अपशब्द मुझे नहीं अपनी बहन-बेटी को कहा

मायावती बोलीं- अपशब्द मुझे नहीं अपनी बहन-बेटी को कहा

mayawatiदयाशंकर सिंह को पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष पद से हटाया

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के बीजेपी उपाध्यक्ष दया शंकर सिंह ने बीएसपी प्रमुख मायवती के लिए आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल किया। बीजेपी नेता ने टिकट बिक्री मामले पर टिप्पणी करते हुए कहा कि मायावती जिस तरह से मोलभाव कर रही हैं इस तरह एक वेश्या भी अपने पेशे को लेकर नहीं करती। दया शंकर सिंह ने मऊ में यह विवादित बयान दिया. इस मामले पर कार्रवाई करते हुए बीजेपी ने दयाशंकर सिंह को पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष पद से हटा दिया है।

यूपी बीजेपी उपाध्यक्ष के बयान पर मायावती ने राज्यसभा में जवाब दिया. उन्होंने कहा कि बीजेपी नेता ने यह बयान मायावती को नहीं, बल्कि‍ अपनी बेटी-बहन के लिए कहे हैं. बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि पूरा देश बीजेपी को माफ नहीं करेगा। उन्होंने बीजेपी से दयाशंकर सिंह को पार्टी से बाहर निकालने की भी मांग की।

मायावती ने सदन में कहा, ‘यूपी बीजेपी के उपाध्यक्ष ने खराब भाषा का इस्तेमाल किया. मैंने अपना पूरा जीवन दलितों के उत्थान के लिए लगा दिया। कांशीराम के बताए रास्ते पर आंदोलन चला रहे हैं। उनकी भाषा की निंदा करने के लिए सदन का आभार. मैंने अपने भाषण में कभी अपशब्द नहीं कहे। ‘

इस बीच, दयाशंकर सिंह ने अपने बयान पर मायावती से माफी मांगी है। उन्होंने बयान पर खेद जताते हुए कहा कि अगर मायावती चाहती हैं तो वो जेल जाने को भी तैयार हैं। दयाशंकर ने सफाई दी कि उन्होंने ऐसा कुछ नहीं कहा है। उन्होंने कहा कि अगर मेरी बात से कोई आहत है तो मैं खेद प्रकट करता हूं। बीजेपी नेता ने कहा है कि आरके चौधरी और स्वामी प्रसाद मौर्य ने आरोप लगाया था कि मायावती पैसा लेकर टिकट देती है और टिकट काट भी देती है तो ये उनके चरित्र में है और मैंने कहा था कि ये चरित्र संकट है।

दरअसल बीएसपी प्रमुख मायावती पर विधानसभा चुनाव को लेकर टिकट बिक्री का लगातार आरोप लग रहे हैं. बीजेपी उपाध्यक्ष ने कहा कि मायावती के टिकट बिक्री के मोलभाव के तंग आकर स्वामी प्रसाद मौर्य, आर के चौधरी और जुगल किशोर जैसे नेताओं ने पार्टी छोड़ दी। ये नेता कांशीराम के साथ जुड़े थे और इन नेताओं ने साफ आरोप लगाया है कि मायावती टिकट बेच रही हैं।

इससे पहले बीजेपी नेता के आरोपों पर मायावती ने कहा कि बीजेपी नेता यूपी में पार्टी की पकड़ ढीली होने से बौखला गए हैं। इस तरह का बयान हताशा का परिचय है।



Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com