Prashant Kishor के फॉर्मूले से यूपी Congress की दाल पतली

congress
अमेठी : जब से यूपी में प्रशांत किशोर ने कांग्रेस के लिए चुनाव मैनेजमेंट शुरू किया है, तब से रीता बहुगुणा जोशी आठवीं विधायक हैं जिन्होंने हाथ का साथ छोड़ दिया रीता के जाने के बाद से ही अब अमेठी में भी सवाल उठने लगे हैं कि आखिर ऐसी क्या बात है कि लोग पार्टी छोड़ रहे हैं रीता ने भी पार्टी छोड़ते और विधायक पद से इस्तीफा देते हुए प्रशांत किशोर की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए हैं ।

इसके पहले भी तमाम कांग्रेसी विधायकों ने भी उन्हें निशाने पर लिया था अमेठी में एक बैठक कर कांग्रेसी खुद भी प्रशांत किशोर की निष्ठा पर भी सवाल उठा रहे हैं उनका कहना है कि अब तक कांग्रेस ने अपनी पलटवार की नीति को कांग्रेस के लिए इस्तेमाल नहीं किया है वह पिछले दोनों चुनावी मैनेजमेंट में वह लगातार विपक्ष पर हमलावर रहे और उनके नेता को मजबूत दिखाया ।

आगामी चुनाव की तैयारियों को लेकर पार्टी के भीतर चल रही उथल पुथल से आहत वरिष्ठ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के चिंतन शिविर में उनके हासिये पर होने का दर्द झलका सभी वक्ताओं ने पीके टीम की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए राहुल से सीधा संवाद स्थापित न हो पाने पर चिंता जताईमुसाफिर खाना में वन विश्राम गृह में आयोजित वरिष्ठ कांग्रेसियों की बैठक में जहाँ एक ओर राहुल की किसान यात्रा और पूर्व सैनिक की आत्महत्या प्रकरण पर विरोध की सराहना की गयी वहीं दूसरी ओर जिला कार्यकारिणी की निष्क्रियता और राहुल का काम देखने वाले व्यवस्थापकों की कार्यशैली पर खिन्नता भी व्यक्त की गयी। ख़ास तौर पर वरिष्ठ कांग्रेसी जनों का जिले की राजनीती में हासिये पर डाले जाने का दर्द उजागर हुआ ।

बैठक को संबोधित करते हुए राहुल देव सिंह ने प्रत्याशी चयन में वरिष्ठ कांग्रेसी जनों की भूमिका न होने पर रोष जताया राजेंद्र ने राहुल गांधी द्वारा अमेठी की राजनीति के लिए विशेष मंथन शिविर लगाने की आवश्यकता जताई एस पी सिंह ने राहुल के साथ वरिष्ठ कांग्रेसियों की बैठक होने, फोन नंबर लिए जाने के बाद भी कोई फीडबैक न लिए जाने पर चिंता जताते हुए पीके टीम की उस टिप्पणी पर नाराजगी जताई जिसमें अमेठी में चाटुकार कांग्रेसियों की भरमार होना बताया गया था ।

मोहम्मद सुलतान ने शीर्ष नेतृत्व परिवार की दो पीढ़ियों से नाता रखने वाले कांग्रेसियों को दरकिनार कर हाशिये पर डाले जाने का मुद्दा उठाया सभी प्रमुख वक्ताओं ने में इस बात पर एक राय दिखी की जिले का संगठन सिर्फ चंद लोगों तक ही सिमट कर रह गया है बैठक में राहुल गांधी के प्रतिनिधि की कार्यशैली पर भी सवाल उठाये गए वरिष्ठ कांग्रेसियों ने ऐसे लोगों के तिलस्म को तोड़ने के लिए राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से सीधा संवाद स्थापित करने की आवश्यकता जताते हुए पार्टी के पक्ष में प्रचार करने की प्रतिबद्धता जताई बैठक की अध्यक्षता सुंदरलाल जायसवाल ने की बैठक में पूर्व सांसद राज करन सिंह,सहित कई वरिष्ठ कॉग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद रहे ।
रिपोर्ट-@राम मिश्रा
UP, Congress workers, Prashant Kishor, Amethi News, Rahul Gandhi, Rahul Gandhi For President, Congress