यूपी: यहाँ के किसानो का पसीना भी मीठा- पीएम मोदी - Tez News
Home > Election > यूपी: यहाँ के किसानो का पसीना भी मीठा- पीएम मोदी

यूपी: यहाँ के किसानो का पसीना भी मीठा- पीएम मोदी

लखीमपुर- पीएम मोदी ने यहाँ के आठों विधान सभा के प्रत्याशियों की मंच पर खड़ा करके उनके लिए वोट करने का जनता से निवेदन किया। यहां राजकीय इंटर कालेज में आयोजित एक विशाल रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि 2014 के चुनाव में जनता ने अपनी ताकत दिखाई थी, केवल दोनों कुनबे के 7 लोग जीत पाये थे। पीएम के कहा की अखिलेश जी आपके लिए खतरे की घंटी तो उसी दिन बज गई थी। आप के पास टाइम था, जनता सोच रही थी नौजवान है कुछ करेगा। पर नहीं आप तो, राम मनोहर लोहिया, जय प्रकाश नारायण का अपमान करके सत्ता के लोभ में कांग्रेस की गोद में बैठ गए।

उन्होंने कहा की कितने भी गठबंधन कर लो, आप के पाप धुलने वाले नहीं हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश की जनता के मतदान से डरकर तीसरा घोषणा पत्र ले आये। इस चुनाव में अखिलेश को अपने काम का हिसाब देना चाहिए, मैं यहीं से लखनऊ जाने को तैयार हूँ, अखिलेश भी आजायें किसी मेट्रो स्टेशन पर टिकट खरीदकर मेट्रो में सफ़र करते हैं, ऐसा नहीं हो सकेगा क्योंकि आप ने झूठा फीता काट दिया। मेदांता का झूठा फीता काट दिया, ताकि काम बोले, अरे अखिलेश जी उत्तर प्रदेश में आपका काम नहीं बल्कि गुंडागर्दी, और अपहरण, दंगे, बलात्कार के कारनामे बोलते हैं, यह सब काम नहीं कारनामे हैं।
उन्होंने जनता से कहा की एक बार हमें मौका दें ये काटते तमंचे वाले, चाक़ू छुरी वाले, गुंडे माफिया छह माह के अंदर जेल में नज़र आएंगे।

यह कृष्ण और राम की धरती है, इसका क्या हाल कर दिया, यह लखीमपुर जिला उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा और चीनी का कटोरा कहा जाने वाला, जहां किसानो का पसीना भी मीठा (स्वीट) हो जाता है, वहां गणना किसानो का भुगतान नहीं हो रहा है। भाजपा की सरकार बनने के 14 दिनों के अन्दर गन्ने का भुगतान पूरा कर दिया जाएगा। और उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद पहली ही मीटिंग में छोटे किसानो का कर्ज माफ़ कर दिया जाएगा।

उधर अखिलेश ने मायावती की जांच न करके उनसे क्या लिया यह बताएंगे, या यह भी काम बोलता है। अखिलेश के यू पी सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में गन्ने के फसल डाल कर उन्हें बर्बाद कर दिया। कभी-कभी अखिलेश बोलते हैं, मोदीजी ज़रा काम तो बताओ, ये सत्ता के नशे में हैं, इन्हें काम नजर नहीं आता। यह ऐसी फसल बीमा योजना है, जिसमे जल भराव ओले, अधिक बारिश, और यदि इन कारणों से नुकसान होने या इन कारणों से फसल न बो पाने पर भी उसको बीमे का पैसा मिलेगा। यह काम आप सबको दिखता है, पर अखिलेश जी को नहीं दीखता।

यदि आप देखें तो पाएंगे, कि गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ अदि में 50 से 60 प्रतिशत किसानों का बीमा हो गया, और उत्तर प्रदेश में केवल 14 प्रतिशत किसानों का, और वो भी केवल उन तबकों का जिनको वो अपना वोट बैंक समझते हैं। यह ऐसा जुर्म है जिसके लिए अखिलेश की माफ़ी नहीं मिलेगी।

नया-नया प्रधानमंत्री बनने पर हमें यूरिया के लिए चिट्ठी आती थीं, अब दो साल से एक भी चिट्ठी नहीं आती। हमने यूरिया का उत्पादन बढ़ाया, बंद फैक्टरियों को चालु कराया और नीम कोटिंग कर यूरिया की चोरी-कालाबाजारी पर भी अंकुश लगाया।

भाजपा की सरकारें जिन प्रदेशों में हैं वहां 50-60 प्रतिशत धान सरकारें खरीदती हैं पर यू पी में 3 प्रतिशत, यह अखिलेश का काम नहीं कारनामा बोलता है। सरकारें किसानों, गरीबों और आम जनता के लिए होती हैं, पर ये दो कुनबे जिनमे एक ने देश को लूटा और एक ने प्रदेश को ये यों ही नहीं मिले इनके अवगुण मिलते हैं तभी ये मिले हैं। उत्तर प्रदेश के अफसर कहते हैं की डी एम् की पोस्टिंग 70 लाख लेकर होती है, तो फिर वो लाएगा कहाँ से लूटेगा तो जनता को ही। हर थाने को सपा का दफ्तर बना दिया बिना सपा नेता के कोई सुनवाई नहीं।

उन्होंने मायावती पर भी हमला बोलते हुए कहा कि मायावती ने दो साल में 24 गाँव में बिजली पहुंचाई और अखिलेश ने 2012 से 2014 के 2 साल में 3 गाँव में, वहीँ भाजपा सरकार ने इतने ही समय में 1064 गाँव में बिजली पहुंचाई इसे कहते हैं काम करना ऐसा भाजपा ही कर सकती है।

गाँव घर छोड़ कर जाने वाले नौजवानों की परेशानी उनके बूढ़े माँ बाप की परेशानी मैं समझता हूँ, इसलिए इस स्थिति को हम बदलकर उन्हें उनके गाँव-क्षेत्र में ही काम मिले ऐसी स्थिति भाजपा लाना चाहती है।

कांग्रेश 2014 में बारह सिलेंडर देने की बात कहकर चुनाव लड़ रही थी, हमारी सरकार गरीबों के लिए है, मैं गरीबी को देखकर आया हूँ, एक माता जब चूल्हा फूंकती है, तो 400 सिगरेट का धुंआ उसके अंदर जाता है, इसलिए हमारी सरकार ने 5 करोड़ माताओं बहनो को मुफ़्त रसोई गैस देने का निर्णय किया, और एक करोड़ अस्सी लाख बांट भी दिए एक भी आरोप भ्रष्टाचार का नहीं लगा, इसे काम कहते हैं।

नौकरियों में इंटरवियु के नाम पर पैसा लेने का पाप होता है, गरीब माँ-बाप को अपना खेत घर और जेवर यहां तक मंगलसूत्र भी बेचना पड़ता है। अब कम्प्यूटर बताएगा कि नंबर वन कौन है, और बूढी विधवा माँ के बेटे को नौकरी मिल जायेगी। अभी तक भ्रष्टाचार के माध्यम से जिनको नौकरी मिली है, उनके पीछे के लोगों की जांच की जायेगी।

नोटबंदी पर बोले कि बेईमानों को अभी तक और आजतक नींद नहीं आरही है, पहले की सरकारों के समय बात होती थी, की किस घोटाले में कितना गया, आज कल कांग्रेस के नेता मुझसे पूछते हैं कि मोदीजी बताएं कितना आया। निकल रहा है, आगे और भी निकलेगा, मेरी लड़ाई छोटे-छोटे व्यापारियों दुकानदारों से नहीं है, भष्ट नेताओं, ठेकेदारों, माफियाओं से है, इस लड़ाई को जीतने के लिए सरकार बनवाइए, हम मिलकर प्रदेश का विकास करेंगे। अभी पश्चिम यू पी के मतदाताओं ने अपनी ताकत दिखाई, गठबंधन होने के बावजूद एम् एल सी जीतकर आये, अब भाजपा सरकार बनने जा रही है, क्योंकि यह असली काम की ताकत है।
रिपोर्ट- @शाश्वत तिवारी




loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com