Home > India News > यूपी के वित्त मंत्री का तीन दिवसीय पश्चिम बंगाल दौरा

यूपी के वित्त मंत्री का तीन दिवसीय पश्चिम बंगाल दौरा

कोलकाता: कोलकाता वासियों ने राजेश जी का दिल खोलकर स्वागत किया। उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल का यहां कोलकाता महानगरी में 14 जुलाई की शाम पहुंचने पर एयरपोर्ट से शुुरू हुआ उनके स्वागत/सत्कार का सिलसिला यहां लगातार तीन दिनों तक जारी रहा। उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मिनिस्टर व भाजपा के वरिष्ठ नेता के आगमन पर पश्चिम बंगाल के लोगों ने बड़े हर्ष व उत्साह के साथ उनका मान/सम्मान किया। उत्तर प्रदेश भाजपा के कोषाध्यक्ष, बीजेपी संगठन से लंबे समय से जुड़े, आरoएसoएसo के सक्रिय कार्यकर्ता के तौर पर राजेश अग्रवाल से मिलकर व उनसे कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करके यहां के आमजन के साथ भाजपा नेताओं में एक नई ऊर्जा का संचार साफ दिखा।

कोलकाता एयरपोर्ट से निकलकर राजेश जी सीधे स्वामी परमात्मानंद जी महाराज, महामंडलेश्वर, महानिर्वाणी अखाड़ा के मठ/ मंदिर पहुंचे, यहां स्वामी जी द्वारा उनका फूल- माला व अंगवस्त्र देकर स्वागत किया गया। मंत्रीजी ने यहां स्थित मंदिर में मां काली की आरती की, मंत्री जी को खास रूप से मां काली को चढ़ा छप्पन भोग प्रसाद रूप में ग्रहण कराया गया। राजेश जी का काफिला यहां के प्राचीन शिव मंदिर, भूतनाथ मंदिर पहुंचा। मंत्रीजी ने यहां भोलेनाथ के दिव्य स्वरूप के दर्शन के साथ शिवलिंग का विधिवत पूजन, दूध से अभिषेक व आरती की।

पश्चिम बंगाल में राज्य अतिथि के तौर पर सनी पार्क स्थित उत्तर प्रदेश भवन में ठहरे वित्त मंत्री अगले दिन (15 जुलाई) कोलकाता शहर में आयोजित कई कार्यक्रमों में शामिल हुए।

बंगाल के भाजपा नेता अनिल गोयल (नेशनल काउंसिल मेंबर) ने अपने कार्यालय में राजेश जी का स्वागत व भोज का आयोजन किया। यहां बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।

वित्त मंत्री ने बेलूर मठ का भ्रमण किया, यहां के मुख्य व्यवस्थापक ने उन्हें स्वामी विवेकानंद का स्मृति चिन्ह सहित कई पुस्तकें भेंट की। संध्या काल में वित्त मंत्री ने दक्षिणेश्वर काली मंदिर में मां काली के दिव्य स्वरूप के दर्शन, पूजन व आरती की।

वित्त मंत्री को यहां कोलकाता में 16 जुलाई (मंगलवार) को होने वाला ‘गुरु पूर्णिमा महोत्सव’ में ‘परमहंस’ सम्मान से सम्मानित किया गया। इस अति प्रतिष्ठित सम्मान को पाने वाले वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल उत्तर प्रदेश के पहले राजनेता है।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी सहित कई जाने-माने, संत- महंतों की मौजूदगी में सत्संग भवन में गुरु पूर्णिमा महोत्सव संपन्न हुआ। इस भव्य आयोजन में परमहंस डॉo जगदीश्वरानंद जी महाराज, व्यवस्थापक- गोविंद घाट, वाराणसी।परमहंस स्वामी दिव्य चेतन्यजी महाराज, व्यवस्थापक- राज राजेश्वरी मठ, ललिता घाट, वाराणसी, विशेष रूप से शामिल रहे।

तेज न्यूज़ नेटवर्क के उत्तर प्रदेश प्रभारी/ ब्यूरो चीफ, वरिष्ठ पत्रकार शाश्वत तिवारी के साथ देश के जानेमाने पब्लिशर्स, वरिष्ठ पत्रकार मनोज कुमार मिश्रा (यूपी) को भी इस कार्यक्रम में विशेष सम्मान देकर सम्मानित किया जाएगा।

इस भव्य आयोजन में कोलकाता शहर के कई जानी-मानी हस्तियां, बड़ी संख्या में भाजपा के कार्यकर्ता व गणमान्य लोग उपस्थित रहे।
प्रदेश के वित्त मंत्री के तीन दिवसीय पश्चिम बंगाल दौरे में वित्त मंत्री के निजी सचिव राजेश कुमार यादव भी शामिल रहेंगे।

जानिए क्या है परमहंस सम्मान

कोलकाता के इस अति प्रतिष्ठित सम्मान को पाने वाले वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल उत्तर प्रदेश के पहले राजनेता है। ब्राह्मण सम्मान सत्संग पत्रिका का अति प्रतिष्ठित सम्मान है।विद्युत ही नहीं विनम्रता और विश्वसनीयता से संपन्न व्यक्ति स्वामी विश्वदेवानंद जी महाराज की स्मृति में ‘परमहंस’ सम्मान से महापुरुषों को अलंकृत किया जाता है, जिन्होंने अपने-अपने क्षेत्र में मानव सेवा के लिए उत्कृष्ट कार्य किए हैं। श्रीमत परमहंस आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी विश्वदेवानंद जी महाराज के नाम पर दिया जाने वाला सत्संग पत्रिका कोलकाता का प्रतिष्ठामूलक परमहंस सम्मान एक वार्षिक दिया जाने वाला सम्मान है।इस सम्मान का आयोजन स्वामी विश्वदेवानंद स्मृति न्यास, शिष्य परिवार एवं सत्संग पत्रिका द्वारा दर्पनारायण टैगोर स्ट्रीट, माला पाड़ा, कोलकाता में स्थिति भव्य सत्संग भवन में किया गया।

(पश्चिम बंगाल से तेज़ न्यूज़ के ब्यूरो चीफ शाश्वत तिवारी की रिपोर्ट)

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com