IPS हिमांशु कुमार सस्पेंड, की थी योगी सरकार की आलोचना

लखनऊ : उत्तर प्रदेश सरकार ने आईपीएस हिमांशु कुमार को निलंबित कर दिया है। उनकी पत्नी की तरफ से दहेज उत्पीड़न का केस दर्ज कराया गया था, जिसके आधार पर उनके खिलाफ यह कार्रवाई की गई है। हिमांशु इस केस में वांछित हैं और 2 मार्च को उनके खिलाफ बिहार की एक अदालत से वॉरंट जारी हुआ था।

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक आईपीएस अधिकारी हिमांशु को अनुशासनहीनता की वजह से निलंबित किया गया है। बताते चलें कि हिमांशु कुमार ने हाल में ही योगी सरकार में यादव जाति वाले लोगों को निशाना बनाकर उनका ट्रांसफर करने का आरोप लगाया था। अपने निलंबन पर हिमांशु कुमार ने ट्वीट करके कहा था कि ‘विजय सिर्फ सत्य की ही होती है’।

चुनाव के दौरान ही आईपीएस हिमांशु कुमार को चुनाव आयोग ने फिरोजाबाद से भी हटाया था। हिमांशु कुमार ने 22 मार्च को एक ट्वीट के जरिए यूपी में यादव सरनेम वाले अधिकारियों को टारगेट करने का मुद्दा उठाया था। हिमांशु ने ट्वीट में लिखा था कि वरिष्ठ अधिकारी ‘यादव’ जाति वाले पुलिस अधिकारियों को निलंबित करने या रिजर्व लाइन भेज रहे हैं।

गैरतलब है कि सपा सरकार के जाते ही सूबे में यादव नेमप्लेट लगाकर रौब झाड़ने वाले अधिकारी अचानक गायब हो गए हैं। अब उनकी नेम प्लेट पर कुमार या सिंह आदि ही लिखा दिख रहा है।