लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुगलसराय, इलाहाबाद और अब फैजाबाद शहर का नाम बदले जाने को लेकर योगी सरकार अपनों के ही निशाने पर आ गई है। बीजेपी के सहयोगी और योगी सरकार में मंत्री ओम प्रकाश ने अपनी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने मुगलसराय और फैजाबाद का नाम बदल दिया, उन्होंने कहा कि वे मुगल के नाम पर थे। राजभर ने कहा कि बीजेपी के पास राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन, केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और यूपी मंत्री मोहसिन रजा हैं- बीजेपी के 3 मुस्लिम चेहरे, पहले उनके नाम बदलें।

यूपी सरकार में मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि ये सभी नाटक उस समय किया जाता है जब पिछड़े और शोषित वर्ग अपने अधिकार की मांग को लेकर अपनी आवाज बुलंद करते हैं, उनका ध्यान भटकाने के लिए ऐसा किया जाता है। मुस्लिमों ने जो चीजें दी हैं वो किसी और ने नहीं दी हैं। राजभर ने सवाल उठाए कि क्या हम जीटी रोड हटा सकते हैं? लाल किला किसने बनवाया? ताज महल किसने बनवाया? उन्होंने कहा कि अहम मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए नाम बदलने का नाटक किया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने हाल ही में इलाहाबाद और फैजाबाद जिलों का नाम बदलने का ऐलान किया है। इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किया गया है, वहीं फैजाबाद का नाम अयोध्या करने का ऐलान किया गया है। इसी मुद्दे पर ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि बीजेपी ने मुगलसराय और फैजाबाद का नाम बदल दिया, उन्होंने कहा कि वे मुगल के नाम पर थे। राजभर ने कहा कि बीजेपी के पास राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन, केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और यूपी मंत्री मोहसिन रजा हैं- बीजेपी के 3 मुस्लिम चेहरे, पहले उनके नाम बदलें।

बता दें बीजेपी नेताओं की ओर से लगातार अलग-अलग शहरों के नाम बदलने की मांग की जा रही है। बीजेपी के फायरब्रांड नेता संगीत सोम ने भी मुजफ्फरनगर का नाम बदलकर लक्ष्मीनगर करने की मांग की है। सरधना से बीजेपी विधायक संगीत सोम ने कहा कि अभी तो बहुत शहरों के नाम बदले जाने हैं। मुजफ्फरनगर का नाम बदला जाना है। मुजफ्फरनगर का नाम लक्ष्मीनगर करने की मांग लोग पहले से कर रहे हैं। मुजफ्फरनगर नाम एक नवाब मुजफ्फर अली ने किया था। लोगों की सदियों से डिमांड है कि इसका नाम लक्ष्मीनगर किया जाए।