Former President Pervez Musharraf Returns To Pakistan After Four Year Exileइस्लामाबाद – पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और सैन्य शासक रहे परवेज मुशर्रफ ने पाकिस्तान को उकसाने और भारत को भड़काने वाला बयान दिया है। म्यांमार में भातीय सेना के ऑपरेशन के बाद से पाकिस्तान और भारत की ओर से चल रही जुबानी जंग में मुशर्रफ भी कूद पड़े हैं। मुशर्रफ ने सवाल किया है कि क्या पाकिस्तान ने परमाणु बम शब-ए-बारात जैसे मौकों के लिए बनाए हैं ।

इसके साथ ही मुशर्रफ ने भारत से कहा कि वह पाकिस्तान को दबाने की कोशिश न करे, पाकिस्तान ने चूड़ियां नहीं पहनी हुई हैं। टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक परवेज मुशर्रफ ने पूछा है कि पाकिस्तान ने परमाणु हथियार क्यों बनाए हैं, वे किस दिन काम आएंगे।

म्यांमार में सैन्य ऑपरेशन के बाद भारत सरकार के मंत्रियों ने इशारों में बयान दिया था कि पाकिस्तान अपनी सीमा में आतंकी गतिविधियां नहीं रोकता है तो अगला नंबर उसका भी हो सकता है।

इस पर पाकिस्तान के गृह मंत्री निसार अली खान ने कहा था कि पाकिस्तान म्यांमार नहीं है और भारत को पाकिस्तानी जमीन पर ऐसा करने के बारे में नहीं सोचना चाहिए। साथ ही उन्होंने भारत को चेतावनी दी थी कि उनका देश सीमापार से धमकी के आगे नहीं झुकेगा।

भारतीय सेना के ‘ऑपरेशन फतह’ पर केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने बुधवार को बधाई दी थी और कहा था कि इससे आतंकियों को पनाह देने वाले पड़ोसियों को भी संदेश जाएगा। राठौड़ के अलावा भारत सरकार के दूसरे मंत्रियों ने भी इस ऑपरेशन पर बयान दिए थे। इन बयानों से यह संदेश जा रहा था कि भारत की पश्चिमी सीमा पर मणिपुर जैसी ही विरोधी ताकतों की हरकतों या मुंबई हमले जैसी भड़काऊ कार्रवाई के बाद भारतीय सेना फिर से ऐसा कदम उठा सकती है।

मालूम हो कि भारतीय सेना के कमांडोज ने अपने हमले में म्यांमार की सीमा में दो उग्रवादियों के ठिकानों को तबाह कर दिया था। भारतीय सैनिकों के इस अभियान पर निकल पड़ने पर म्यांमार को भी इस ऑपरेशन के बारे में सूचना दी गई थी। भारत के इस तरह के कड़े रुख की तरह अमेरिका भी अपनी जमीन के बाहर कई इलाकों में आतंकी खतरे या आशंकित आतंकी खतरे को लेकर कार्रवाई करता रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here