vhpआगरा- विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के नेता अरुण माथुर की हत्या के बाद पुलिस लगातार मामले को शांत करने का प्रयास कर रही है। लेकिन केंद्रीय राज्य मंत्री राम शंकर कठेरिया द्वारा दिया गया बयान विवादों में है ! कठेरिया रविवार यहां एक वीएचपी वर्कर को श्रद्धांजलि देने गए थे ! जहाँ उन्होंने माइनॉरिटी कम्युनिटी के लिए बयान दिया जो अब विवादों में पड़ गया है ! कठेरिया जिस वीएचपी कार्यकर्ता की श्रद्धांजलि सभा में बोल रहे थे, दूसरी कम्युनिटी के लोगों पर उसकी हत्या का आरोप लगा है। इस दौरान बीजेपी के सांसद भी मौजूद थे !

श्रद्दांजलि सभा में फतेहपुर से बीजेपी सांसद बाबू लाल भी शामिल हुए। स्पीच देने वालों ने कहा कि अरुण की मौत का बदला लिया जाएगा। यूपी में अगले विधानसभा चुनाव का जिक्र करते हुए बीजेपी एमएलए जगन प्रसाद गर्ग ने कहा- “आप गोलियां चला सकते हो। राइफल और चाकू रख सकते हो। 2017 में चुनाव आ रहे हैं।”

सभा में करीब पांच हजार लोग मौजूद थे। इन लोगों ने नारेबाजी भी की। वीएचपी के जनरल सेक्रेटरी सुरेंद्र जैन ने एडमिनिस्ट्रेशन को धमकी देते हुए कहा- “आगरा को मुजफ्फरनगर बनाने की गलती न करें।” कठेरिया ने एडमिनिस्ट्रेशन को भी धमकी देते हुए कहा- “ये मत सोचना कि मैं मंत्री हो गया तो हाथ बंध गए।” कठेरिया ने कहा कि हम बुधवार और शुक्रवार को कॉलोनियों में और भी मीटिंग करेंगे। अगर किसी में हिम्मत है तो हमें अब रोककर देखे।

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, पिछले गुरुवार को वीएचपी वर्कर अरुण माहौर की हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद आगरा और आसपास के इलाकों में तनाव बढ़ गया था। मामले को लेकर पुलिस और प्रशासन सतर्क है !